DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मजियाखेत में फिर दहाड़ा तेंदुआ, दहशत

मजियाखेत में फिर दहाड़ा तेंदुआ, दहशत

मजियाखेत में फिर तेंदुआ धमक गया है। वह दिन में भी दहाड़ रहा है। जिससे गांव के लोग दहशत में आ गए हैं। उन्होंने वन विभाग के खिलाफ नारेबाजी भी की। उन्होंने तेंदुए को पकड़ने के लिए लगे पिंजरे को शोपीस करार दिया। शहर से सटे गांव मजियाखेत में फिर से तेंदुआ धमक गया है। वह सुबह-शाम गांव की तरफ बढ़ रहा है। गांव से सटे इलाके में झाड़ियों होने से वह दो शावकों के साथ दिखाई दे रहा है। जिससे लोगों में भय बना हुआ है। ग्रामीण कैलाश सिंह, हुकुम सिंह, नरेंद्र सिंह, हरीश सिंह, ललित मोहन जोशी ने बताया कि छोटे-छोटे बच्चे हैं। उनका घर से बाहर निकल पाना मुश्किल हो गया है। वह जजी सड़क के आसपास दिन में भी टहल और दहाड़ रहा है। उन्होंने कहा कि वन विभाग ने पिंजरा लगाया है। लेकिन उसमें तेंदुए फंसे कैसे। पिंजरे में कोई शिकार भी नहीं रखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि तेंदुए के साथ दो शावक भी हैं। जो गांव के लिए खतरा बने हुए हैं। उन्होंने वन विभाग से पिंजरे में शिकार रखने और तेंदुए के आतंक से निजात दिलाने की गुहार लगाई है। इधर डीएफओ आरके सिंह ने कहा कि तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया गया है।वन विभाग की टीम लगातार निगरानी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Leopard, panic in Majiaqhet