DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक सप्ताह से मंडलसेरा में नहीं आ रहा पानी

एक सप्ताह से मंडलसेरा में नहीं आ रहा पानी

जिला मुख्यालय में पीने के पानी का संकट बना हुआ है। सबसे अधिक परेशानी मंडलसेरा क्षेत्र में हो रही है। यहां की महिलाएं अब श्रीनौला धारे में कपड़े धोने के लिए पहुंच रहीं हैं। इससे लोगों की परेशानी बढ़ने लगी है। इस नौले से अस्पताल आने वाले तीमारदार अपनी प्यास बुझाते हैं। भीड़ होने से उन्हें इंतजार करना पड़ रहा है।

गर्मी शुरू होते ही बागेश्वर जिले में पीने के पानी का संकट गहरा जाता है। एक सप्ताह से यह परंपरा बदस्तूर जारी है। सरयू नदी में बने धूराफाट-बौड़ी पेयजल योजना का लाभ काफलीगैर क्षेत्र के लोगों को नहीं मिल रहा है। रेखोली क्षेत्र के लोग तीन किमी दूर से वाहनों में पानी ढोने को मजबूर हैं। इससे उनका समय और ईंधन बर्बाद हो रहा है। इधर, मंडलसेरा क्षेत्र में एक सप्ताह से पानी की एक भी बूंद लोगों के घरों के नलों में नहीं टपकी है। इससे लोग परेशान हैं। मंडलसेरा निवासी गंगा, कमला और सीमा ने बताया कि वे बच्चों को पढ़ाने के लिए यहां किराए के मकान में रहती हैं। पानी नहीं आने से वे परेशान हैं। रविवार की छुट्टी होने के कारण बच्चों के स्कूल ड्रेस धोने के लिए एक किमी पैदल चलकर श्रीनौला धारा आए हैं। उनकी परेशानी सुनने वाला कोई नहीं है।

मंडलसेरा में एक दिन छोड़कर रोस्टर के हिसाब से पानी दिया जा रहा है। जहां पानी का ज्यादा संकट है वहां टैंकरों से पानी भेजा जा रहा है। तहसील मार्ग में रात को पानी की आपूर्ति की जा रही है।

-एमके टम्टा, ईई, जल संस्थान, बागेश्वर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hail for water in Mandalasera region