DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरमूल से कवाड़िए बागेश्वर को रवाना

सरमूल से कवाड़िए बागेश्वर को रवाना

सरमूल, सौधारा यानि सरयू के उदगम स्थल से कवाड़िएं बागेश्वर की तरफ रवाना हो गए हैं। महिलाओं ने पारंपरिक वेशभूषा में सरमूल से गागर में जल भरा। ढोल-नगाड़ों की थाप पर कवाड़िए बम-बम के बोलों के साथ रवाना हुए। सोमवार यानि आज बागनाथ मंदिर में जलाभिषेक होगा। सरमूल, सौधारा व भद्रतुंगा विकास समिति के प्रभारी अध्यक्ष भगवत सिंह कोरंगा, भद्रतुंगा के महंत देवानंद दास और सलाहकार दयाल सिंह कुमल्टा के नेतृत्व में सरमूल से कवाड़ियों का दल बागेश्वर की ओर रवाना हो गया है। दल मुनार, सलिंग, रीठाबगड़ होते हुए कपकोट शिवालय पहुंचा। जहां श्रद्धालुओं ने उनका भव्य स्वागत किया। दल देर शाम तक असों, हरसीला, गोलना और देवलचौंरा पहुंचेगा। कावड़िए सोमवार को बाबा बागनाथ को सरमूल का जल चढ़ाएंगे। 70 कवाडि़ए दल में शामिल हैं। इस मौके पर गोविंद टाकुली, भीम सिंह दानू, खीमुली टाकुली, सुभाष चौबे, गंगा सिंह कोरंगा, गोकुलानंद पाठक, सचिन नगरकोटी, भगवती कोरंगा, लछम सिंह टाकुली, बलवीर कपकोटी आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:From Saramul to Quwaiye Bageshwar