Forests of Bageshwar can not be found in the fire - बागेश्वर के जंगलों को आग से नहीं मिल रही निजात DA Image
18 नबम्बर, 2019|2:55|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बागेश्वर के जंगलों को आग से नहीं मिल रही निजात

बागेश्वर के जंगलों को आग से नहीं मिल रही निजात

वनों को आग से निजात नहीं मिल रही है। जौलकांडे के जंगल दूसरे दिन भी धधकते रहे। आग लगने से वन संपदा को भारी नुकसान हो रहा है। पर्यावरण पर भी इसका दुष्प्रभाव पड़ रहा है। ग्रामीणों ने वन विभाग से जल्द आग पर काबू पाने की गुहार लगाई।

फायर सीजन शुरू होने से पहले ही जिले के अधिकांश जंगल जल चुके थे। बीच में बारिश से कुछ राहत मिली थी। एक बार फिर से जंगल जलने शुरू हो गए हैं। जौलकांडे के जंगलों में दूसरे दिन भी आग लगी रही। वन विभाग लाख दावों के बाद भी आग बुझाने में सफल नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि हर साल लाखों का बजट खपाया जाता है। इसके बावजूद आग पर काबू नहीं पाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आग से कीमती वन संपदा को भारी नुकसान हो रहा है। चारे का भी अभाव हो रहा है। जिससे पशुपालकों को परेशानी हो रही है। आग से पर्यावरण भी लगातार प्रदूषित हो रहा है। इससे सांस और आंख के रोगों में बढ़ोत्तरी हो रही है। ग्रामीण रतन सिंह, अशोक चंद्र, मनोहर राम, प्रेमा देवी, सरिता देवी, संतोषी आदि ने जल्द आग पर काबू पाने की गुहार लगाई। इधर, वन दरोगा प्रयाग दत्त भट्ट ने कहा कि अराजक तत्व वनों को आग के हवाले कर रहे हैं। विभाग आग पर काबू पाने का पूरा प्रयास कर रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Forests of Bageshwar can not be found in the fire