ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड बागेश्वरलेटला के जंगलों में फिर धधकी आग

लेटला के जंगलों में फिर धधकी आग

धूप खिलते ही जंगलों में आग लगने लगी है। आरक्षित वन लेटला मंगलवार सुबह से धधक रहा है। जिससे पर्यावरण दूषित होने लगा है। स्थानीय लोगों ने वन विभाग...

लेटला के जंगलों में फिर धधकी आग
हिन्दुस्तान टीम,बागेश्वरTue, 14 May 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

धूप खिलते ही जंगलों में आग लगने लगी है। आरक्षित वन लेटला मंगलवार सुबह से धधक रहा है। जिससे पर्यावरण दूषित होने लगा है। स्थानीय लोगों ने वन विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि जंगलों की आग को वर्षा के भरोसे छोड़ दिया गया है। उन्होंने आग पर नियंत्रण नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
धरमघर रेंज में मिश्रित वन हैं। इन जंगलों में आग लगने से नियंत्रण कर पाना मुश्किल होता है। आग से अधिक धुंआ वातावरण में फैल जाता है। जिससे वन्य जीवों को सबसे अधिक नुकसान होता है। उत्तराखंड आंदोलनकारी गंगा सिंह पांगती ने कहा कि बीते सितंबर माह से जंगल जल रहे हैं। आग बुझाने के लिए वर्षा पर वन विभाग निर्भर है। जबकि लाखों का बजट आग नियंत्रित करने के लिए आता है। अराजक तत्वों तथा किसानों को दोषी ठहराया जा रहा है। वन विभाग की सुस्ती से जंगल जल रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पोर्टल में भी शिकायत की है। कहा कि यदि वन विभाग सजग नहीं रहा तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। इधर, रेंजर प्रदीप कांडपाल ने कहा कि आग को नियंत्रित करने के लिए टीम रवाना हो गई है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।