DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सकन्यूड़ा गांव में आठ कमरों का मकान ध्वस्त

सकन्यूड़ा गांव में आठ कमरों का मकान ध्वस्त

क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से सकन्यूड़ा गांव में आठ कमरों का दो मंजिला मकान ध्वस्त हो गया। इससे दो भाइयों का परिवार बेघर हो गया है। उन्होंने भागकर जान बचाई। पीड़ितों का घरेलू सामान मलबे में दब गया है। भारी बारिश से जन-जीवन पूरी तरह पटरी से उतर गया है। शनिवार रात सकन्यूड़ा गांव में नवीन राम और रमेश राम पुत्र नर का दो मंजिला कमान गिरने लगा। परिवार के लोग तब गहरी नींद में सो रहे थे। घटना शनिवार रात करीब ढाई बजे की बताई जा रही है। मकान की छत में हलचल होने से परिवार के सभी सदस्य बाहर भाग गए। बाहर झमाझम बारिश हो रही थी। दोनों परिवारों के छह सदस्य घटना में बालबाल बच गए हैं। गोशाले में भैंस, बकरी, बैल आदि बंधे हुए थे। पीठ पर पत्थर गरने से पशु घायल हुए हैं। ग्रामीणों की मदद से पशुओं को भी रात में ही बाहर निकाला गया। इससे वहां रातभर अफरातफरी का माहौल रहा। ग्रामीणों ने इसकी सूचना तत्काल तहसीलदार कांडा को दी। ग्रामीण सुंदर सिंह मेहरा, अर्जुन भट्ट, पूरन बचखेती, पूरन राम, नंदन भौर्याल आदि ने पीड़ित परिवारों को मुआवजा देने और उनके पुनर्वास की मांग उठाई है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में दोनों परिवार गांव में दूसरे के घर में रह रहे हैं। उन्होंने आपदा से बेघर हुए परिवारों को पुनर्वास तक किराए के लिए धन देने की गुहार जिला प्रशासन से लगाई है। इधर, पटवारी वपूरन राम वर्मा ने बताया कि मौका मुआयना कर लिया है। रिपोर्ट तहसीलदार को सौंपी जा रही है। उन्होंने बताया कि मवेशियों को हल्की चोट लगी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Eight-room house collapsed in Sakanuara village