DA Image
28 जनवरी, 2021|1:08|IST

अगली स्टोरी

किसान विरोधी अध्यादेश वापस ले केंद्र सरकार: युकां

किसान विरोधी अध्यादेश वापस ले केंद्र सरकार: युकां

युकां कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ एक बार फिर मोर्चा खोला है। इस बार कार्यकर्ताओं ने किसानों के समर्थन में मशाल जुलूस निकाला है। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि डबल इंजन की सरकार कभी भी किसानों की हित में नहीं रही है। अब केंद्र ने किसान विरोधी अध्यादेश पारित किया है। इस तरह के फैसले को युकां कतई सहन नहीं करेगी। जब तक अध्यादेश वापस नहीं लिया जाता उनका विरोध जारी रहेगा।

युकां जिलाध्यक्ष कवि जोशी के नेतृत्व में कार्यकर्ता गुरुवार की देर शाम करीब छह बजे स्वराज आश्रम के पास एकत्रित हुए। यहां जोरदार नारेबाजी के साथ केंद्र के खिलाफ नारेबाजी की। यहां से हाल में मशाल लेकर किसानों के समर्थन में रैली निकाली। रैली नुमाईशखेत, दुग बाजार, माल रोड, बड़ा बाजार होते हुए गोविंद बल्लभ पंत चौक पर पहुचे। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार पूरी तरह उद्योग पतियों की कठपुतली बन गई है। देश के लोगों को राशन उगाने वाले किसानों के विरोध में फैसले लिए जा रहे हैं। केंद्र सरकार तानाशाही पर उतर आई है। ऐसी सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं है। सभी कार्यकर्ता सरकार की जनविरोधी नीतियों को आम जन पहुंचाएगी। इस मौके पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष लोकमणि पाठक, नगर अध्यक्ष धीरज कोरंगा, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, राजेंद्र टंगड़िया, बालकृष्ण, रंजीत दास, पूर्व पालिकाध्यक्ष गीता रावल, गीतांजलि, ईश्वर पांडेय, भूपेश खेतवाल, सुनीता टम्टा, इंद्रा जोशी, अंकुर उपाध्याय, रोहित खैर, भीम कुमार, रिजवान खान, बहादुर बिष्ट्र, महेश पंत आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Central government should withdraw the anti-farmer ordinance Yukan