DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रातिरकेटी में क्षमता संवर्द्धन प्रशिक्षण शिविर लगेगा

कपकोट तहसील के दूरस्थ गांव रातिरकेटी के युवाओं के लिए खुशखबरी है। गांव में रेडक्रॉस संस्था क्षमता संवर्द्धन शिविर लगाने जा रही है। जून में लगने वाले इस शिविर में एसडीआरएफ के सहयोग से ग्रामीण युवाओं को खोज और बचाव के गुर सिखाए जाएंगे। उन्हें प्राथमिक उपचार की जानकारी भी दी जाएगी। एसपी लोकेश्वर सिंह भी प्रशिक्षण कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे।

रविवार को संस्था के जिला सचिव आलोक पांडे ने बताया कि कपकोट क्षेत्र आपदा की दृष्टि से संवेदनशील है। जहां मानसून सत्र के दौरान खोज बचाव की अधिक जरूरत होती है। कई बार समय पर मदद नहीं मिलने से लोगों को भारी नुकसान तक उठना पड़ता है। इसको देखते हुए समिति ने दुर्गम गांव को प्रशिक्षण के लिए चुना है। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण पांच दिन तक चलेगा। युवाओं को विभिन्न चरणों में आपदा आने पर होने वाले खोज बचाव के गुर सिखाए जाएंगे। उन्हें प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। जिससे आपदा के समय लोगों के घायल होने पर उसे तत्कालिक उपचार मिल सके। बताया दूरस्थ गांव में प्रशिक्षण का लाभ वहां के युवाओं को भी मिलेगा। इससे आपदा के समय बाहरी मदद पहुंचने तक वह स्वयं के प्रयासों से होने वाले नुकसान को कम कर सकेंगे। इधर, एसपी लोकेश्वर सिंह ने कहा कि इस तरह के प्रशिक्षण से आपदा प्रबंधन में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया पुलिस भी जल्द ही नशामुक्ति और साइबर अपराध को लेकर जागरूकता सेमिनार का आयोजन करेगी।

------------

जगदीश उपाध्याय को नोडल अधिकारी का जिम्मा

बागेश्वर। रातिरकेटी में होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए जगदीश उपाध्याय को नोडल अधिकारी बनाया गया है। ललित मोहन जोशी को प्रशिक्षण प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है। समिति के चेयरमैन अशोक लोहनी ने बताया कि वर्तमान में संस्था के दो सदस्य मसूरी में आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण लेने गए हैं। जिसके बाद उनके सहयोग से जिले में अन्य आपदा प्रबंधन एवं प्राथमिक उपचार शिविर लगाए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Capacity building training camp will take place in Ratkirkati