DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राधिकरण हटाओ मोर्चा ने जनप्रतिनिधियों से पूछे दस सवाल

बागेश्वर में महायोजना 2031 तथा जिला विकास प्राधिकरण को तत्काल हटाने की मांग को लेकर प्राधिकरण हटाओ मोर्चा का आंदोलन जारी है। मोर्चा ने गत दिनों उत्तरायणी मेले में पहुंचे वित्त मंत्री प्रकाश पंत तथा विधायक चंदन राम दास द्वारा लोगों को दिए आश्वासनों पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने इस मामले को लोकसभा चुनाव में उठाने की चेतावनी दी है। साथ ही लोगों से ऐसे जनप्रतिनिधियों से सावधान रहने की अपील की है जो जनता की पीड़ा को नहीं सुनते हैं। मोर्चा के प्रवक्ता रमेश पांडेय कृषक ने कहा कि वित्त मंत्री तथा विधायक ने उत्तरायणी में आकर यहां के लोगों को जिला विकास प्राधिकरण को लेकर भ्रमित किया है। उन्होंने मामले में कई सवाल उठाए हैं। कहा कि केदारनाथ की आड़ में नियोजित विकास के नाम पर जिला विकास प्राधिकरण का काला कानून थोपा गया। इसके अलावा शराब की दुकानों को रियायत दी जा रही है। उन्होंने कहा कि विधायक नक्शा शुल्क में 70 प्रतिशत छूट देने की बात कर रहे हैं, जबकि महायोजना से हो रही परेशानी से वह अनजान बने हैं। सरकार मान रही है कि महायोजना जल्दबाजी में लाई गई है, लेकिन मामले में कोई समाधान नहीं खोजा गया है। इसी तरह उन्होंने प्राधिकरण से जुड़े दस सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि मोर्चा जनप्रतिनिधियों की जवाबदेही तय करेगा। यदि संतोषजनक जवाब नहीं दिए गए तो मोर्चा आंदोलन करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Authorities removed the ten questions asked by the people