DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सरकारी स्कूलों के छात्र भी पढ़ेंगे तकनीकी विषय

अब सरकारी स्कूलों के छात्र भी पढ़ेंगे तकनीकी विषय

शिक्षा विभाग ने तकनीकी शिक्षण संस्थानों की तरह सरकारी स्कूलों में व्यवसायिक विषय पढ़ाने का मन बनाया है। समग्र शिक्षा अभियान के तहत इस बार के प्रस्ताव में सरकारी स्कूलों की दशा सुधारने को कई प्रस्ताव सम्मिलित किए गए हैं। जिनमें से एक प्रस्ताव कक्षा नौ से आइटी (सूचना प्रौद्यौगिकी), ब्यूटी एवं वेलनेस समेत कई अन्य तकनीकी विषय शुरू करने का भी है। बहरहाल ये प्रस्ताव शासन को भेजे गए हैं जिसके बाद स्वीकृति के लिए इन्हें भारत सरकार को भेजा जाएगा। सरकारी स्कूलों में अब तक भौतिक, गणित, रसायन, जीव विज्ञान, संस्कृत, भूगोल, हिंदी जैसे विषय ही पढ़ाए जाते हैं। हर साल स्कूली शिक्षा में कुछ न कुछ नया लागू कराने के उद्देश्य से शिक्षा विभाग की ओर से वार्षिक कार्ययोजना तैयार की जाती है। जिसे स्तर पर भेजा जाता है। इस बार से राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान (रमसा) और सर्वशिक्षा अभियान (एसएसए) को मिलाकर समग्र शिक्षा अभियान का नाम दिया गया है। समग्र शिक्षा अभियान के तहत शिक्षा विभाग के अधिकारियों की हुई बैठक में इस बार की कार्ययोजना तैयार की गई। जिसमें माध्यमिक स्कूलों में कक्षा नौ से व्यवसायिक विषय लागू करने का प्रस्ताव भी शामिल रहा। शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस बार की कार्ययोजना में कक्षा नौ से तकनीकी शिक्षा को भी शामिल करने का निर्णय लिया गया है। जिसमें आईटी, ब्यूटी एवं वेलनेस, मशीनिस्ट, टैक्नीशियन, ऑटोमोबाइल, लोकल क्राफ्ट, मोटर मैकेनिक आदि विषय शामिल हैं। यदि इन विषयों को भारत सरकार से स्वीकृति मिल जाती है तो स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षा विभाग का यह बड़ा कदम होगा। 14 स्कूल किए गए हैं शामिल

समग्र शिक्षा अभियान के तहत कक्षा नौ से व्यवसायिक विषय लागू करने के प्रस्ताव में जिले के 14 स्कूल शामिल किए गए हैं। यदि प्रस्ताव को स्वीकृति मिलती है तो प्रथम चरण में इन्हीं स्कूलों में ये विषय शुरू किए जाएंगे। इन स्कूलों में राइका अल्मोड़ा, राइका बाराकूना, राइका फुलोरिया, राइका देवलीखेत, राबाइका रानीखेत, राइका भनोली, राइका हवालबाग, राइका नौगांव रीठागाड़, राइका जौरासी, राइका भगतोला, राइका आरतोला, राबाइका अल्मोड़ा, राइका खूंट व राइका सलौंज शामिल हैं।

एक विषय में 40 छात्र होने अनिवार्य चुने गए स्कूलों में व्यवसायिक विषय लेने वाले छात्रों की संख्या भी निर्धारित की गई है। प्रत्येक विषय में 40 छात्र होने अनिवार्य हैं। बताते चलें कि ब्यूटी एवं वेलनेस विषय के लिए उत्तराखंड बोर्ड से पहले ही मान्यता मिल चुकी है।

समग्र शिक्षा अभियान के तहत इस बार की वार्षिक कार्ययोजना में कक्षा 9 से व्यवसायिक विषयों को लागू करने का निर्णय लिया गया है। जिसके तहत आईटी, ब्यूटी एवं वेलनेस, इलेक्ट्रीशियन, मशीनिस्ट, टेक्नीशियन, ऑटोमोबाइल विषय बच्चों को पढ़ाए जाएंगे। इसका प्रस्ताव बनाकर स्वीकृति के लिए भारत सरकार को भेजा जाना है।एचबी चंद, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक अल्मोड़ा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Students of government schools will also study technical topics