DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेल मैदान बनाने को सड़क आयोजित की खेल प्रतियोगिता

खेल मैदान बनाने को सड़क आयोजित की  खेल प्रतियोगिता

पर्यटन नगरी में आम जनता के लिए आज तक एक अदद खेल मैदान नहीं बन सका। इससे नाराज लोगों ने रविवार को विरोध का अनोखा तरीका अपनाते हुए सड़क को ही मैदान बना डाला। खिलाड़ियों ने नगर के व्यस्त चौराहे गांधी चौक में बीच सड़क विभिन्न खेलों का आयोजन कर सांकेतिक विरोध जताया। खेल मैदान की मांग को लेकर नगर में जुलूस निकालकर भी प्रदर्शन किया गया। मुख्य चौराहे पर खेलों के आयोजन से जाम की स्थिति बनी रही। रानीखेत में सिविल क्षेत्र की जनता के लिए खेल मैदान नहीं है। विभिन्न खेल मैदान सेना के अधीन है, जिनमें आम जनता के लिए प्रतिबंध हैं। मैदान के अभाव में खिलाड़ी अभ्यास नहीं कर पाते, जिससे युवाओं में खेलों के प्रति रुचि लगातार घट रही है। खेल मैदान नहीं बनने से खफा खिलाड़ी, वरिष्ठ खिलाड़ी और खेल प्रेमी रविवार को सड़कों पर उतर आए। खिलाड़ियों, खेल प्रेमियों ने प्रात: जन जागरण मंच के बैनर तले नगर के व्यस्त चौराहे गांधी चौक में विभिन्न खेल आयोजित कर सांकेतिक विरोध-प्रदर्शन किया। खिलाड़ी पूर्वाह्न 11 से 12 बजे तक बीच सड़क क्रिकेट, हॉकी, फुटबाल, वॉलीबाल, ताइक्वांडो, बैडमिंटन, कराटे समेत विभिन्न खेल खेलते रहे। व्यस्त चौराहे में बीच सड़क खेलों के आयोजन से जाम की स्थिति पैदा हो गई। इसके बाद खिलाड़ियों, खेल प्रेमियों ने जुलूस प्रदर्शन के माध्यम से भी खेल मैदान निर्माण की मांग उठाई। जुलूस गांधी चौक से शुरू होकर रोडवेज स्टेशन में संपन्न हुआ। जन जागरण मंच ने संकल्प लिया कि खेल मैदान बनने तक हर साल दिवस पर इस तरह के जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम में अगस्त लाल साह, हरीश मनराल, हेमंत बिष्ट, भूपेंद्र रावत, उमेश बिष्ट, खजान जोशी, महेश जोशी, बीडीसी सदस्य त्रिभुवन फर्त्याल, नरेश तलरेजा, पूरन बिष्ट, दीपक कन्नौजिया, धीरेंद्र बिष्ट, हिमांशु उपाध्याय, धीरज वर्मा, नीलेश जोशी, मनीष कन्नौजिया सहित विमल सती, कैलाश पांडे, अनिल वर्मा आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sports activity in main road in ranikhet by players