DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्मोड़ा में एक सप्ताह में डेढ़ सौ रुपये कम हुए काफल के रेट

अल्मोड़ा में एक सप्ताह में काफल रेट में काफी कमी आई है। गर्मी शुरू होते ही जंगलों में बहुतायत मात्रा में काफल पकने लगा है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग सुबह जंगलों से काफल तोड़कर के बाद बाजार में बेच रहे हैं। वर्तमान में बाजार में 200 से 250 रुपये किलो तक काफल बिक रहा है। पिछले एक सप्ताह में काफल के रेट में डेढ़ सौ रुपये तक कमी आई है।

गर्मी के मौसम में पहाड़ के जंगलों में पकने वाला काफल फल को पहाड़ से लेकर मैदान तक के लोग भी काफी प्रसंद करते हैं। पहाड़ से पलायन कर मैदान में रहने वाले लोग भी रोजाना पहाड़ से मैदान को जाने वाले वाहनों से काफल मंगाते हैं। इस कारण पहाड़ से ज्यादा की इसकी खपत मैदान में भी रही है। इन दिनों अल्मोड़ा बाजार में जगह-जगह लोग काफल की टोकरियों को रखकर बेच रहे हैं। यहीं नहीं गर्मी के सीजन में कुछ लोगों के लिए काफल दिनचर्या भी बन जाता है। जिले के विभिन्न सड़क मार्गो के किनारे बच्चे व महिलाएं काफल को बेचने के लिए खड़े रहते हैं। कुछ लोग इस काफल को बेचकर दिनचर्या भी चलाते। एक सप्ताह पहले तक अल्मोड़ा बाजार में काफल 350 रुपये प्रति किलो बिक रहा था। जो अब कम होकर 220 से 200 रुपये किलो तक आ गया है। काफल के रेट कम होने से लोगों को अब पहले के मुताबिक कम रुपये खर्च करने पड़ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rate of failure of less than one hundred rupees in Almora in one week