ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड अल्मोड़ापेयजल स्रोत में गंदगी देख चढ़ा जनप्रतिनिधियों का पारा

पेयजल स्रोत में गंदगी देख चढ़ा जनप्रतिनिधियों का पारा

द्वाराहाट में बीते दस दिन से चल रही है पेयजल की किल्लत पेयजल स्रोत में गंदगी देख जनप्रतिनिधियों का पारा पेयजल स्रोत में गंदगी देख जनप्रतिनिधियों का...

पेयजल स्रोत में गंदगी देख चढ़ा जनप्रतिनिधियों का पारा
हिन्दुस्तान टीम,अल्मोड़ाSat, 11 May 2024 10:45 PM
ऐप पर पढ़ें

द्वाराहाट, संवाददाता। ग्राम पंचायत मल्ली किरोली, तल्ली किरोली, सटौरा, कलौंटिया क्षेत्र की पेयजल योजना बीते दस दिनों से बाधित है। इससे परेशान जनप्रतिनिधि शनिवार को छह किमी दूर पेयजल श्रोत तक पहुंच गए। यहां पेयजल स्रोत में गंदगी और शौंच देखकर जनप्रतिनिधियों का पारा चढ़ गया।
जनप्रतिनिधियों के मुताबिक पेयजल योजना 1982 में घटगाड पुल के पास नगर पंचायत से खीरो गधेरे में बनी थी। इस योजना से बीते दस दिन से पानी नहीं मिला है। शनिवार को जनप्रतिनिधि और ग्रामीण पेयजल योजना के हैड पर पहुंच गए। स्रोत में नगर पंचायत के सुलभ शौचालय का सीवर, भवनों की गंदगी देख लोग भड़क गए। जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने विभाग व प्रशासन से तत्काल कार्रवाई करने की मांग की। कहा कि दूषित पानी से गंभीर बीमारी और महामारी का खतरा है। बताया कि खीरो नदी से किरोली, छतगुल्ला, बसेरा,बूंगा, सलना घुसेला, कूना, धन्यावद, बड़ेत, द्यौलाड़गूठ, कुमाल्टा आदि ग्राम पंचायतों के लिए उपलब्ध कराया जाता है। यहां किरोली प्रधान गिरधर सिंह, लक्ष्मण किरौला, राकेश किरौला, हरीश किरौला, प्रताप बिष्ट, दिनेश किरौला, मनोहर सिंह, भूपाल सिंह, घनश्याम सिंह, बन्टी किरौला आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।