ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड अल्मोड़ाचांदीखेत में खेतों में आए मलबे से नष्ट हुई आलू की फसल

चांदीखेत में खेतों में आए मलबे से नष्ट हुई आलू की फसल

चांदीखेत में काश्तकारों के खेत मलबे से पट गए हैं। मलबा आने से उनकी आलू की फसल नष्ट हो गई है। काश्तकारों ने मलबा आने का कारण रामगंगा बाई नहर की सफाई...

चांदीखेत में खेतों में आए मलबे से नष्ट हुई आलू की फसल
हिन्दुस्तान टीम,अल्मोड़ाTue, 14 May 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

चांदीखेत में काश्तकारों के खेत मलबे से पट गए हैं। मलबा आने से उनकी आलू की फसल नष्ट हो गई है। काश्तकारों ने मलबा आने का कारण रामगंगा बाई नहर की सफाई नहीं होना बताया है। फसल बरबाद होने से काश्तकारों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ेगा।
बीते दिनों क्षेत्र में बारिश और ओलावृष्टि हुई थी। इससे चांदीखेत के कई नालों में पानी भर गया था। गधेरे और नालों से मलबा काश्तकारों के खेतों तक भी पहुंच गया। इससे काश्तकारों के खेत मलबे से पट गए। इन खेतों में काश्तकारों की आलू की फसल तैयार हो गई थी और खोदने की तैयारी चल रही थी। फसल नष्ट होने से किसान परेशान हैं। काश्तकार लक्ष्मण गिरी, सरपंच विपिन गिरी समेत अन्य ग्रामीणों ने बताया कि लंबे समय से रामगंगा बाई नहर की सफाई नहीं की गई है। बैराठेश्वर के पास नहर के ऊपर लगी पटलों की ऊंचाई है। इससे निकासी नहीं हो पाती है। पहले से ही नहर में काफी मलबा भरा हुआ था। कहा कि इस संबंध में राजस्व उप निरीक्षका को जानकारी दे दी गई है। सिंचाई अभियंताओं से भी नहर की सफाई करने और पटालों को हटाकर ऊचाई में निर्माण करने की मांग की है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।