DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीड़ित नाबालिग को 50 हजार देने के आदेश

सामूहिक दुराचार मामले में शुक्रवार को नाबालिग पीड़िता को बयान के लिए विशेष न्यायाधीश पॉक्सो डा़ ज्ञानेंद्र कुमार शर्मा की अदालत में लाया गया। स्वास्थ्य खराब होने के चलते पीड़िता के बयान दर्ज नहीं हो पाए। निर्भया प्रकोष्ठ की वरिष्ठ अधिवक्ता अभिलाषा तिवारी की ओर से न्यायालय में पीड़िता को शैक्षिक, चिकित्सा और आर्थिक पुनर्वास उपलब्ध कराने की याचना की गई। जिस पर न्यायालय की ओर से पीड़िता को 50 हजार का अंतिम प्रतिकर निर्धारित किया गया। साथ ही डीएम को एक माह के भीतर पीड़िता को प्रतिकर देने को आदेशित किया गया है। मामले में पीड़िता की माता ने कहा कि बच्ची का स्वास्थ्य ठीक नहीं है जिस कारण दोबारा चिकित्सा की आवश्यकता की मांग की। जिस पर न्यायालय की ओर से महिला चिकित्सालय के अधीक्षक को पीड़िता का दोबारा स्वास्थ्य परीक्षण कर उसे अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता है या नहीं, यह सुनिश्चित कराने को आदेशित किया गया है। साथ ही इस कार्रवाई से न्यायालय को अवगत कराने को आदेशित किया गया है। इधर स्कूल से संबंधित मामले को लेकर ग्रीष्मकालीन अवकाश तक न्यायालय में आदेश सुरक्षित रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Order to be given final compensation of 50 thousand to the minor