DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › अल्मोड़ा › मां नंदा-सुनंदा के भजनों, जयकारों से नंदामयी हुई पर्यटन नगरी
अल्मोड़ा

मां नंदा-सुनंदा के भजनों, जयकारों से नंदामयी हुई पर्यटन नगरी

हिन्दुस्तान टीम,अल्मोड़ाPublished By: Newswrap
Thu, 16 Sep 2021 10:20 PM
मां नंदा-सुनंदा के भजनों, जयकारों से नंदामयी हुई पर्यटन नगरी

नंदा देवी महोत्सव में मां नंदा-सुनंदा के जयकारों और भजनों से पर्यटन नगरी नंदामयी हो चली है। अराध्य देवी के दर्शनों और पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा है। गुरुवार को विधायक करन माहरा ने भी मां के दर्शन कर पूजा की। नंदा देवी मंदिर में आरती, भजनों के साथ अनुष्ठान भी संपन्न कराए जा रहे हैं। आज शुक्रवार को डोले (शोभायात्रा) के साथ महोत्सव का समापन होगा।

जरूरी बाजार स्थित नंदा देवी मंदिर में मां नंदा-सुनंदा की आरती के साथ भजन-कीर्तनों का दौर चला है। मंदिर में विभिन्न अनुष्ठान भी संपन्न कराए जा रहे हैं। सुबह से लेकर रात तक मां के दर्शनों और पूजा-अर्चना के लिए भक्तों की कतार लग रही है। गुरुवार को विधायक करन माहरा ने भी मंदिर पहुंचकर मां के दर्शन करने के साथ पूजा-अर्चना की तथा मन्नत मांगी। मंदिर में महिलाएं मां के भजनों का आयोजन कर रही हैं। कीर्तन मंडली की ओर से कीर्तन भी आयोजित किए जा रहे हैं। सभी कार्यक्रम कोविड गाइड लाइन के अनुसार संपन्न कराए जा रहे हैं। नंदा देवी समिति के अध्यक्ष हरीश साह ने बताया कि 131वें महोत्सव के समापन पर शुक्रवार को नगर में मां का डोला निकाला जाएगा। देर शाम धोबीघाट में विसर्जन होगा।

--

प्रतियोगी महिलाओं की शकुनाखर की प्रस्तुति ने किया मुग्ध

रानीखेत। नंदा देवी महोत्सव के तहत सांस्कृतिक आधारित ऑनलाइन प्रतियोगिताएं जारी हैं। इसी क्रम में गुरुवार को महिलाओं की शकुनाखर मंगलगीत) प्रतियोगिता आयोजित की गई। कुमाऊं में बारात के स्वागत में धूलिअर्घ के वक्त शकुनाखर गाए जाते हैं। एकल और समूह के आधार पर आयोजित शकुनाखर प्रतियोगिता में महिलाओं ने दिलकश प्रस्तुति दी। प्रतियोगिता के अंतिम चरण में आज शुक्रवार को 60 साल से ऊपर की महिलाओं की लोकनृत्य प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। महोत्सव के सांस्कृतिक संयोजक विमल सती ने कहा कि लोकनृत्य का चार मिलट का वीडियो बनाकर शुक्रवार को सुबह आठ से रात आठ बजे तक 8954946030 नंबर पर व्हाट्स एप करना होगा।

संबंधित खबरें