DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संयुक्त मजिस्ट्रेट ने किया गनियाद्योली ड्रग फैक्ट्री का निरीक्षण

default image

गनियाद्योली स्थित को-ऑपरेटिव ड्रग फैक्ट्री का शुक्रवार को संयुक्त मजिस्ट्रेट नरेंद्र भंडारी ने निरीक्षण किया। उन्होंने मशीनों का जायजा लेने के साथ फैक्ट्री के आय-व्यय के बारे में भी पूरी जानकारी प्राप्त की। सहकारी संघ के अध्यक्ष मोहन नेगी ने एसडीएम को फैक्ट्री की समस्याओं से अवगत कराया। शुक्रवार को गनियाद्योली स्थित ड्रग फैक्ट्री के निरीक्षण पर पहुंचे एसडीएम नरेंद्र भंडारी कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं से रूबरू हुए। संघ अध्यक्ष नेगी के साथ मिलकर उन्होंने आयुर्वेदिक दवाओं की मशीनों का जायजा लिया। इसके साथ फैक्ट्री के आय-व्यय के बारे में जानकारी प्राप्त की। जीर्ण-क्षीर्ण स्थिति में भवन, कर्मचारियों की घटती संख्या आदि के बारे में चर्चा हुई। मालूम हो कि, पं. गोविंद बल्लभ पंत ने 1954 में फैक्ट्री की स्थापना की। उत्तराखंड राज्य बनने के बाद लोग फैक्ट्री की कायाकल्प की उम्मीद लगाकार बैठे थे। लेकिन फैक्ट्री अब बदहाली का दंश झेल रही है। अब फैक्ट्री में जड़ी बूटी का उत्पादन ठप होने के कारण बाहर से जड़ी बूटी मंगवानी पड़ रही है। अध्यक्ष नेगी ने कहा कि, फैक्ट्री में आर्डर नहीं मिल पा रहा है। इस दशा में रोजगार उपलब्ध करा पाना मुश्किल होता जा रहा है। भविष्य में इसके संरक्षण के लिए शासन स्तर से प्रयास करने की जरूरत है। एसडीएम ने अपने स्तर से प्रयास करने का आश्वासन दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Joint Magistrate inspected Ganiyadoli Drug Factory