If the promotions list is not released then the dharna-demonstration will be done in the Directorate - पदोन्नति सूची जारी नहीं हुई तो निदेशालय में करेंगे धरना-प्रदर्शन DA Image
10 दिसंबर, 2019|10:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पदोन्नति सूची जारी नहीं हुई तो निदेशालय में करेंगे धरना-प्रदर्शन

पदोन्नति सूची जारी नहीं हुई तो निदेशालय में करेंगे धरना-प्रदर्शन

मुख्य प्रशासनिक अधिकारी एवं प्रधान सहायक के पदों पर पदोन्नति सूची जारी नहीं होने पर मिनिस्ट्रीयल कार्मिकों में रोष है। बुधवार को कार्मिकों ने सीईओ के माध्यम से महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा को ज्ञापन भेजा। सीईओ की अनुपस्थिति में कर्मचारियों ने डीईओ बेसिक आरएस यादव को ज्ञापन सौंपा।

मांगें पूरी नहीं होने पर प्रांतीय आह्वान पर मिनिस्ट्रीयल कार्मिकों ने चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया है। महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा को भेजे गए ज्ञापन में कार्मिकों ने कहा कि पदोन्नति निरंतर गतिमान रहने वाली प्रक्रिया है। अल्प वेतनभोगी कर्मचारियों के वित्तीय स्तर को मजबूत करने के लिए पदोन्नति निर्धारित होनी आवश्यक है। कहा कि प्रत्येक भर्ती वर्ष की समाप्ति पर पदोन्नति की कार्रवाई की जाती है। लेकिन दो भर्ती वर्ष समाप्त होने के बाद भी वरिष्ठ सहायक से प्रधान सहायक के पद पर पदोन्नति सूची निर्गत नहीं हो पाई है। कार्मिकों ने कहा कि प्रांतीय आह्वान पर 20 जनवरी तक दोनों पदोन्नति सूची जारी नहीं होती है तो 21 जनवरी से प्रदेश, मंडल व जनपदीय कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी व सदस्य निदेशालय में धरना-प्रदर्शन के साथ ही घेराव करने को मजबूर होंगे। जिसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी। मंडलीय सचिव धीरेंद्र कुमार पाठक ने कहा कि सरकार एक ओर हड़ताल पर पांबदी की बात कर रही है। दूसरी ओर कर्मचारियों के हितो की अनदेखी कर रही है। उन्होंने सरकार के इस फैसले की निंदा की है। ज्ञापन सौंपने वालों में जिलाध्यक्ष पुष्कर सिंह भैसोड़ा, मंडलीय सचिव धीरेंद्र पाठक, राजेश डालाकोटी, बलवीर भाकुनी, बलवंत तड़ागी, कमल बिष्ट, योगेश तिवारी, जगदीश सिंह, योगेंद्र बिष्ट, गोपाल भाकुनी, जानकी बिष्ट, मुकेश जोशी, मुकेश पांडेय समेत कई कार्मिक मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If the promotions list is not released then the dharna-demonstration will be done in the Directorate