DA Image
27 नवंबर, 2020|2:52|IST

अगली स्टोरी

चौखुटिया में किसानों ने प्रदर्शन किया

तल्ला गेवाड़ में राम गंगा बाई नहर से रवि फसल (गेहूं बुवाई) को सिंचाई पानी नहीं पहुंचने से काश्तकार परेशान हैं। परेशान काश्तकारों ने सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने की मांग को लेकर भगोती में एकत्रित हुए। जहां नाराज काश्तकारों ने विभाग के खिलाफ प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। जल्द सिंचाई के लिए पानी नही मिलने पर मंगलवार से विभागीय कार्यालय में तालाबंदी की चेतावनी दी।

गौरतलब है कि ब्लॉक के तल्ला गेवाड़ क्षेत्र की ग्राम पंचायत पटलगाव, चिनौनी, जेठुवा, भगोती, झुडुगा, खनुली, मासी के 3 दर्जन से अधिक राजस्व गांव के कास्तकार रामगंगा बाई नहर में सिंचाई पानी नहीं आने से गेहूं बुवाई नहीं कर पाए हैं। जिससे ग्रामीण काश्तकार परेशान हैं। ग्रामीणों का कहना है कि लंबे समय से बारिश नहीं होने के कारण खेतों में जुताई नहीं हो पा रही है। बार-बार गुहार लगाने के बाद भी विभागीय अभियंताओं के कानों में जू तक नहीं रेंग रहा है। आरोप लगाते हुए कहा कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी इस क्षेत्र की उपेक्षा करते रहे हैं। उपेक्षा के चलते आज तीन दर्जन से अधिक गांवो के ग्रामीण सिचाई के पानी के लिए तरस रहे है। ग्रामीणों ने कहा कि खरीफ फसल के लिए हमेशा संघर्ष करना पड़ता है। पर इस बार रबी फसल के लिए भी विभागीय अभियंताओं की अनदेखी के चलते फसल बुवाई के लिए सिंचाई पानी की मांग को लेकर सड़कों में उतरना पड़ा है। जिससे नाराज काश्तकारों को नहर में पानी चलाने की मांग को लेकर भगोती में एकत्रित होकर विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करना पड़ रहा है। काश्तकारों ने चेतावनी दी कि जल्द रामगंगा बाई नहर में सिंचाई पानी नहीं चलाया गया तो मंगलवार से कार्यालय में तालाबंदी की जाएगी। यहां क्षेत्र पंचायत सदस्य कैलाश गैरोला, पूर्व प्रधान प्रकाश उपाध्याय, राजेंद्र सिंह, शांति देवी, सावित्री देवी, खष्टी देवी, खिमुली देवी, कविता बिष्ट, नीमा जोशी, बसंती देवी, कमला, हेमा, सुनीता, मोहनी, गंगा आदि मौजूद रहे।

चांदीखेत में भी दिक्कत

चौखुटिया। बाजार से सटे चांदीखेत में सिंचाई के लिए बनी सिचाई गूल क्षतिग्रस्त होने से ग्रामीण काश्तकार गेहूं बुआई के लिए परेशान हैं। इस संबंध में चांदी खेत के ग्रामीणों ने सिचाई विभाग अभियंताओं को ज्ञापन देकर जल्द सिचाई गूल की मरम्मत कर पानी मुहैया कराने की मांग की है। किसानों ने ज्ञापन में कहा है कि 1 वर्ष पूर्व गूल की मरमत हुई थी। लेकिन घटिया निर्माण के चलते 10 मीटर गूल क्षतिग्रस्त हो गई है। इससे काश्तकारों की खेती सिंचाई के लिए पानी पहुंचना असंभव है। जल्द गूल की मरम्मत कर पानी देने की मांग की है। ज्ञापन भेजने वालों मे सरपंच विपिन गिरी, राजेंद्र सिंह, चंदन सिंह आदि मुख्य रहे।