DA Image
26 नवंबर, 2020|9:55|IST

अगली स्टोरी

को-ऑपरेटिव ड्रग फैक्ट्री की बदहाली पर जताई चिंता

default image

श्रमिक संघ, को-ऑपरेटिव ड्रग फैक्ट्री गनियाद्योली की बैठक में फैक्ट्री की बदतर हो रही स्थिति पर चिंता जताई गई। फैक्ट्री के उत्थान के लिए ठोस नीति बनाए जाने तथा युवाओं जड़ी-बूटी उत्पादन से जोड़ने पर जोर दिया गया। इस मौके पर गठित संघ की नई कार्यकारिणी के लिए मोहन नेगी को पुनः अध्यक्ष चुन लिया गया। को-आपरेटिव ड्रग फैक्ट्री श्रमिक संघ अध्यक्ष मोहन नेगी की अध्यक्षता में हुई बैठक में फैक्ट्री के हालातों पर चिंता जताई गई। वक्ताओं ने कहा कि फैक्ट्री में बाहर के आर्डर मिलने लगातार कम हो रहे हैं। जिससे उत्पादन प्रभावित हो रहा है। वहीं,फैक्ट्री के अधिकांश पुराने कर्मचारी भी सेवानिवृत्त हो चुके हैं। फैक्ट्री में वर्तमान में मात्र 15 से 17 श्रमिक ही कार्यरत हैं। जबकि पूर्व में 250 तक श्रमिक कार्य करते थे। अध्यक्ष नेगी ने कहा कि वर्तमान में फैक्ट्री को ऑर्डर नहीं मिल रहे तथा कर्मचारियों की नियुक्ति भी नहीं हो रही है। बैठक में फैक्ट्री का उत्पादन बढ़ाने के लिए ठोस कार्ययोजना बनाने की मांग उठाई गई। इसके लिए युवाओं को जड़ी-बूटी उत्पादन का प्रशिक्षण दिए जाने पर जोर दिया गया। बैठक के दूसरे चरण में संघ की नई कार्यकारिणी के चुनाव कराए गए। जिसके लिए मोहन नेगी फिर से अध्यक्ष चुने गए। जबकि खुशाल डोगरा महामंत्री, हर सिंह रौतेला उप सभापति, विकास चंद्र संयुक्त मंत्री, हरीश प्रसाद कोषाध्यक्ष चुने गए। बैठक में श्रमिक संघ के पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Concern over the plight of the co-operative drug factory