Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड अल्मोड़ारानीखेत में सुनार के घर में घुसे हथियार बंद संदिग्ध, लूटपाट का प्रयास

रानीखेत में सुनार के घर में घुसे हथियार बंद संदिग्ध, लूटपाट का प्रयास

हिन्दुस्तान टीम,अल्मोड़ाNewswrap
Sun, 05 Dec 2021 10:10 PM
रानीखेत में सुनार के घर में घुसे हथियार बंद संदिग्ध, लूटपाट का प्रयास

नगर के श्रीधरगंज निवासी एक सुनार के घर में हथियारबंद संदिग्धों के घुसने से सनसनी फैल गई। सुनार का आरोप है कि अंगूठी बनाने के बहाने पहुंचे संदिग्धों ने घर का मुख्य गेट बंद कर लूटपाट करने का प्रयास किया। दो लोगों के पास पिस्टल देखकर परिवार दहशत में आ गया। हो-हल्ला करने पर संदिग्ध मुख्य बाजार की तरफ फरार हो गए। सूचना के बाद पुलिस ने बाजार में लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच कर आरोपियों की शिनाख्त और धरपकड़ शुरू कर दी है।

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बिजनौर निवासी नरेंद्र कुमार वर्मा उर्फ बिट्टू नगर के श्रीधरगंज में परिवार के साथ किराये के मकान में रहते हैं। वह नगर के सर्राफा व्यवसायियों के लिए जेवरात बनाने का काम करते हैं। नरेंद्र ने बताया कि रविवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे पांच अनजान लोग उनके कमरे के बाहर पहुंचे। दरवाजा खोलने पर दो लोग अंदर दाखिल हो गए, जबकि अन्य तीन बाहर ही खड़े रहे। उनके अनुसार कमरे में घुसे लोगों ने मुनड़ी (अंगूठी) खरीदने की बात कही। नरेंद्र के अनुसार घर के अंदर घुसे दोनों लोगों का संदिग्ध व्यवहार देख उन्हें शक हो गया, इस बीच दोनों की जैकेट की जेब से बाहर झलक रहे पिस्टलों को देख परिवार सकते में आ गया। इसी बीच दोनों संदिग्धों ने घर का मेन दरवाजा बंद करने की कोशिश की, तो उनके पुत्र ने हिम्मत जुटाकर जैसे-तैसे बाहर निकलकर हो-हल्ला मचाना शुरू कर दिया। शोरगुल से पड़ोसियों के जुटने के बाद पांचों संदिग्ध वहां से सदर बाजार की ओर भाग निकले। इसके बाद सुनार नरेंद्र ने कोतवाली में घटना सूचना दी। इसके बाद एसआई श्याम सिंह बोरा के नेतृत्व में पुलिस ने बाजार में विभिन्न स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली, लेकिन आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाए हैं।

--

सघन आबादी में लूटपाट के प्रयास की घटना संदेह से भरी

रानीखेत। नगर में सघन आबादी वाले श्रीधरगंज की जिस गली में सुनार नरेंद्र वर्मा रहते हैं, वहां अनजान लोगों की अचानक पहुंच की गुंजाइश बेहद कम है। संकुचित गली में नरेंद्र का कमरा भी सीढ़ियां चढ़ने के बाद प्रथम तल पर हैं। ऐसे में सुबह-सवेरे लूटपाट के इरादे से अनजान बदमाशों का नरेंद्र के घर में ही घुसना पुलिस के गले नहीं उतर रहा है। सुनार का कहना है कि 10 दिन पूर्व ही वह बिजनौर में पुत्री की शादी कर रानीखेत लौटे हैं। उन्होंने इस बीच बदमाशों द्वारा उनकी रेकी करने की संभावना जताई है।

--

कोट

सुनार की सूचना के बाद आरोपियों की पहचान और गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने मुख्य बाजार में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है, लेकिन कहीं भी फुटेज साफ नहीं होने से संदिग्धों की पहचान नहीं हो पाई है। इस सघन आबादी वाले स्थान पर सुनार नरेंद्र रहता है, वहां अंजान बदमाशों का लूटपाट के इरादे से घुस पाना संभव नहीं है। पुलिस लेन-देन और अन्य एंगल से भी जांच कर रही है।

- राजेश कुमार यादव, कोतवाल रानीखेत।

epaper

संबंधित खबरें