DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  अल्मोड़ा  ›  रोडवेज की 6 बसों से एक दिन में केवल 35 हजार की कमाई

अल्मोड़ारोडवेज की 6 बसों से एक दिन में केवल 35 हजार की कमाई

हिन्दुस्तान टीम,अल्मोड़ाPublished By: Newswrap
Sun, 12 Jul 2020 02:00 PM
रोडवेज की 6 बसों से एक दिन में केवल 35 हजार की कमाई

-508 लीटर से अधिक खर्च हो गया तेल -सवारी नहीं मिलने से उठाना पड़ रहा नुकसान, अधिकारी परेशान अल्मोड़ा। हमारे संवाददाताकोरोना संक्रमण के बाद अनलॉक-2 में भी लोग बहुत कम संख्या में आवाजाही कर रहे है। आवाजाही नही होने से अनलॉक-1 से संचालित रोडवेज की बसों को सवारी नही मिल रहे है। जिससे डिपो को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। आलम यह है कि शनिवार को संचालित रोडवेज की 6 बसों से डिपों को केवल 35 हजार की कमाई हुई। जबकि 508 लीटर से अधिक तेल खर्च हो गया। दरअसल कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सार्वजनिक वाहनों के संचालन पर रोक लगा दी गई थी। जिसके बाद अनलॉक-1 में बीते जून माह के अंतिम सप्ताह से रोडवेज बसों का संचालन शुरू कर दिया गया। लेकिन बसों में यात्री नही मिल पा रहे है। जिस कारण डिपों को भारी नुकसान उठान पड़ रहा है। रविवार को भी रोडवेज ने 6 बसों का संचालन किया। जिसमें अल्मोड़ा स्टेशन से अटपेशिया के लिए चार, टकनपुर में 5 जबकि अल्मोड़ा हल्द्वानी में केवल 2 यात्रियों ने रोडवेज स्टेशन से यात्रा की।

सवारी नहीं मिलने से केमू की हल्द्वानी को नही चली बस

अल्मोड़ा। केएओयू ने भी बीते बुधवार से बसों का संचालन शुरू कर दिया है। लेकिन केमू बसों में सवारियों का टोटा बना हुआ है। सवारी नही मिलने से रविवार को हल्द्वानी के लिए बस का संचालन नही हो सका। सवारी नही मिलने से केएमओयू प्रशासन की चितांए बढ़ गई है। हालाकि अभी केमू की ओर से लंबे रूटों में ही बसों का संचालन किया जा रहा है। लेकिन यहां 50 फीसदी सवारी भी बसों को नही मिल पा रही है।

आंतरिक मार्गो में नहीं हो रहा केमू बसों का संचालन

अल्मोड़ा। केएमओयू ने लंबे मार्गो पर बसों का संचालन शुरू कर दिया है। लेकिन अभी भी जिले के आंतरिक मार्गो में बसों का संचालन ठप है। जिससे यात्रियों को जनपद मुख्यालय पहुंचने के लिए टैक्सी वाहनों का सहारा लेना पड़। जिससे लोगों की जेब अधिक ढीली हो रही है। आंतरिक मार्गो में बसों का संचालन नही होने से ग्रामीण क्षेत्र के लोग बहुत कम संख्या में बाजार पहुंच पा रहे है। केएमओयू स्टेशन प्रभारी बीबी चंदोला ने बताया कि यात्री मिलने पर बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

संबंधित खबरें