ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश वाराणसीजिपं अध्यक्ष ने गंगा में छोड़ीं मत्स्य अंगुलिकाएं

जिपं अध्यक्ष ने गंगा में छोड़ीं मत्स्य अंगुलिकाएं

संत रविदास घाट पर बुधवार को गंगा में 2.50 लाख मत्स्य अंगुलिकाएं (रिवर रैचिंग) छोड़ी गईं। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत राष्ट्रीय मा्स्यियकी...

जिपं अध्यक्ष ने गंगा में छोड़ीं मत्स्य अंगुलिकाएं
हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीThu, 22 Feb 2024 02:45 AM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी, संवाददाता।
संत रविदास घाट पर बुधवार को गंगा में 2.50 लाख मत्स्य अंगुलिकाएं (रिवर रैचिंग) छोड़ी गईं। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत राष्ट्रीय मा्स्यियकी विकास बोर्ड, हैदराबाद की ओर से हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या रहीं।

उन्होंने कहा कि इसके जरिए मत्स्य संरक्षण और पर्यावरण संतुलन बनाए रखने का प्रयास किया जा रहा है। मत्स्य पालन निषाद समाज के साथ अन्य लोगों के लिए बड़ा रोजगार साबित हो रहा है। इस दौरान भारतीय मेजर कार्प, रोहू, कतला, नैन की अंगुलिकाएं छोडी गईं। वहीं, घाट पर हुई जागरूकता गोष्ठी में सहायक निदेशक (मत्स्य) दीपांशु व ज्येष्ठ मत्स्य निरीक्षक राजेंद्र कुमार ने विचार रखे। इस मौके पर रामरति बिंद, डॉ. अनिल निषाद, श्वेता सिंह आदि थीं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें