DA Image
8 अप्रैल, 2020|9:57|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली हिंसा में फायरिंग करने वाला शाहरुख ही है...अनुराग मिश्रा नहीं, फर्जी तस्वीर से फैलाया जा रहा भ्रम

shahrukh and anurag

सोशल मीडिया किस तरह से लोगों के लिए मुसीबत भी बन रहा है, इसका ताजा उदाहरण दिल्ली हिंसा में भी देखने को मिला है। दिल्ली हिंसा के दौरान सरेआम फायरिंग करने के बाद सबसे चर्चित चेहरा बने युवक शाहरुख का मामला गुरुवार को वाराणसी के थाने पहुंच गया। जब सोशल मीडिया पर दावा किया जाने लगा कि दिल्ली हिंसा में पुलिस कॉन्सटेबल पर बंदूक तानने और फायरिंग करने वाला शख्स शाहरुख नहीं, बल्कि अनुराग मिश्रा है। दरअसल, सोमवार को दिल्ली में हिंसा के दौरान टीवी चैनलों पर आए एक वीडियो ने सभी को स्तब्ध कर दिया था। लाल रंग की टी शर्ट पहना शाहरुख सरेआम गोलियां चला रहा था। किसी तरह उसकी पहचान हुई, मगर अब भी वह पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस सूत्रों  ने कहा कि शाहरुख अब भी फरार है और उसकी तलाश जारी है। 

दिल्ली हिंसा में ताहिर पर आईबी अफसर की हत्या का मुकदमा, AAP ने पार्टी से निकाला

शाहरुख से मिलता जुलता चेहरा चेहरा होने की वजह से सोशल मीडिया पर अनुराग मिश्रा का नाम वायरल हो गया। दावा किया गया कि उस युवक का नाम शाहरुख नहीं, बल्कि अनुराग मिश्रा है। कुछ चैनलों ने भी सोशल मीडिया पर वायरल अनुराग मिश्रा की तस्वीरें दिखा दीं। इधर जिस अनुराग मिश्रा के फेसबुक एकाउंट से वह तस्वीरें उठाई गई थीं, उन्हें  जब अपने दोस्तों से इस बारे में पता चला तो अनुराग के पैरों तले जमीन खिसक गई। 

दादरा एवं नागर हवेली के सिलवासा के रहने वाले अनुराग मिश्रा इन दिनों यूपी इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में शामिल होने के लिए वाराणसी में हैं। पेशे से एक्टर अनुराग मिश्रा गुरुवार (27 फऱवरी) को सिगरा थाने पहुंचे और पुलिस को आवेदन देते हुए बताया कि फिल्म फेस्टिवल के सिलसिले में 19 फरवरी से ही वे यहीं के होटल में रुके हैं। दोस्तों से जानकारी मिली कि एक फेसबुक आईडी अनुराग डी मिश्रा के नाम से बनाई गई है। उनके फेसबुक अकाउंट से तस्वीरें एडिट कर सोशल मीडिया पर दिल्ली में दंगे के दौरान फायरिंग करते युवक वाली तस्वीर के साथ वायरल की जा रही है। लोग पोस्ट को बिना जांचे आगे बढ़ा रहे हैं और कह रहे हैं कि दिल्ली दंगे में फायरिंग करने और हिंसा फैलाने के आरोपी की पहचान अनुराग मिश्रा के रूप में हुई है। अनुराग ने अनहोनी की आशंका जताते हुए पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई। पुलिस ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

fir copy of anurag mishra

इससे पहले कई फेसबुक पर कई लोगों ने फर्जी तस्वीर के जरिये यह दावा किया कि दिल्ली हिंसा में गोली चलाने वाला शाहरुख अनुराग मिश्रा है। एक यूजर ने लिखा- 'शाहरुख तो अनुराग मिश्रा निकले। पुलिस और मीडिया का इस्लामोफोबिया नजरिया देखो, प्रोपेगेंडा मचा रखा था।' जबकि हकीकत ये सामने आई है कि दिल्ली के जाफराबाद में हिंसा के दौरान गोली चलाने वाला शख्स अनुराग मिश्रा नहीं, बल्कि शाहरुख ही है, जिसकी तलाश पुलिस अब भी कर रही है। 

anurag mishra

वायरल तस्वीर की पड़ताल करने के बाद सच सामने लाने के लिए अनुराग मिश्रा ने हिन्दुस्तान अखबार का भी धन्यवाद किया है। अनुराग ने अपने फेसबुक लिखा- हिन्दुस्तान न्यूज पेपर को दिल से धन्यवाद। सभी लोग इसी तरह से सच्चाई का साथ दें। 

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली हिंसा में दो समुदाय के बीच हिंसा हुई थी। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में रविवार, सोमवार और मंगलवार को हुई हिंसा में करीब 38 लोगों की जान जा चुकी है और करीब 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं। इस हिंसा में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल के अलावा एक आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की भी जान गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:North East Delhi Violence Shahrukh is real gunman who fired during delhi violence not anurag mishra