DA Image
21 अक्तूबर, 2020|6:51|IST

अगली स्टोरी

करंट की चपेट मे आने से मजदूर की मौत

भेलूपुर क्षेत्र के रानीपुर में पेयजल की पाइप लाइन का लीकेज ठीक करते समय गुरुवार को करंट की चपेट में आने से श्रमिक महेंद्र राम (30) की मौत हो गयी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

महेंद्र लंका थाना क्षेत्र के टिकरी गांव का निवासी था और वह जलकल में मजदूरी करता था। वह दोपहर अपने चार साथियों के साथ रानीपुर में पेयजल की पाइप लाइन का लीकेज ठीक करने पहुंचा। मजदूरों ने गड्ढे की खुदाई की। लीकेज के कारण गड्ढे में पानी भर गया। इसके मजदूरों ने पानी लगाने के लिए वाटर पम्प लगा दिया। महेंद्र पाइप पकड़े हुए था। इसी दौरान करंट की चपेट में आ गया। उसे छटपटाते देख साथी भागने लगे। देखते ही देखते भीड़ जुट गयी। 

महेंद्र के साथियों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। कुछ देर  बाद महेंद्र के पिता सोहन राम पहुंचे। परिवारवाले ठेेकदार पर आरोप लगाने लगे। हंगामा देख पुलिस शव को ले जाकर मर्चरी में रखवा दिया। इधर, पुलिस ने ठेकेदार को बुलवाया। इस दौरान क्षेत्रीय नेता समेत दोनों पक्षों के लोग जुट गये थे। महमूरगंज चौकी पर परिवारवालों से घंटों पंचायत के बाद ठेकेदार ने पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद का भरोसा दिलाया। मृतक के दो छोटे बेटे हैं। इंस्पेक्टर अशेषनाथ सिंह ने बताया कि परिजन तहरीर देते हैं तो रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।