DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › वाराणसी › जब अपने ही स्कूल की प्रिंसिपल बनी कक्षा पांच की छात्रा
वाराणसी

जब अपने ही स्कूल की प्रिंसिपल बनी कक्षा पांच की छात्रा

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 08:31 PM
जब अपने ही स्कूल की प्रिंसिपल बनी कक्षा पांच की छात्रा

वाराणसी। वरिष्ठ संवाददाता

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर सोमवार को जनपद के परिषदीय स्कूलों में विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। पिंडरा ब्लॉक के सैरागोपालपुर प्राथमिक विद्यालय में छात्रा ने प्रधानाध्यापिका का प्रभार ग्रहण किया। मंडुवाडीह प्राथमिक विद्यालय में कला व क्राफ्ट प्रतियोगिता हुई तो कई स्कूलों में बच्चों ने गीत और कहानियां सुनाईं।

प्राथमिक विद्यालय सैरागोपालपुर में प्रधानाध्यापक कौशल कुमार ने कक्षा पांच की छात्रा समिता पटेल को चार्ज दिया। स्कूल में इसके अलावा अन्य छात्र-छात्राओं ने भी शिक्षण कार्य किया। प्रधानाध्यापिका समिता पटेल ने विद्यालय में मिशन शिक्षण में अपने सहयोगी छात्रों के जरिए कक्षावार कार्य विभाजन किया। सहयोगी टीम ने कक्षाओं में छात्रों की अटेंडेंस लेने के साथ ही छात्र शिक्षण कार्य को जिम्मेदारी से पूरा किया। बच्चों में उत्साह और सहयोग की प्रवृत्ति ज्यादा दिखाई दी। गांव वालों को इसकी सूचना मिली तो बच्चों के अभिभावक अपने बच्चों की प्रतिभा देखने से खुद को रोक न सके। समिता के साथ छात्र अध्यापकों में कक्षा-1 की स्वाति, वर्षा, कक्षा -2 की प्रिया, महिमा, कक्षा -3 की श्रद्धा, पावनी, कक्षा -4 अंजलि, सृष्टि, कक्षा -5 की कोमल, सृष्टि आदि रहीं। इस अवसर पर लगभग एक दर्जन अभिभावकों के साथ साथ सहायक अध्यापक कौशल कुमार, सुनील कुमार, राहुल सिंह, प्रीति सोनकर, रामासरे, निशा, नगीना व संगीता उपस्थित रहीं।

दूसरी तरफ, काशी विद्यापीठ ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय मदरवां में बच्चों ने पोस्टर एवं कविता से महिलाओं के साथ भेदभाव न करने का संदश दिया। भारत की प्रसिद्ध महिलाओं के बारे में चर्चा की गई। साथ ही हेल्पलाइन नंबर एवं बालिकाओं के अधिकारों के साथ-साथ स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के बारे में जानकारी दी गई। कंपोजिट विद्यालय गंगापुर में बच्चों ने गीत और कहानियां सुनाईं। अन्य स्कूलों में भी कई कार्यक्रम आयोजित किए गए।

संबंधित खबरें