DA Image
7 जुलाई, 2020|3:49|IST

अगली स्टोरी

विद्यापीठ में वेबिनार: सोशल मीडिया के चलते सूचनाओं की विश्वसनीयता पर सवाल

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि समाज आज मीडिया को उम्मीद की नजर से देख रहा है। इसलिए उसे विश्वसनीय बनना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी ने सूचना के स्वरूप को बदल दिया है। इस तकनीक से निकली सोशल मीडिया ने सूचनाओं की विश्वसनीयता पर बड़ा सवाल खड़ा किया है। 

प्रो. द्विवेदी रविवार को काशी विद्यापीठ के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की ओर से आयोजित ‘हिन्दी पत्रकारिताः सामयिक मुद्दे एवं प्रस्तुतीकरण’ विषयक दो दिवसीय वेबिनार के समापन सत्र को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। यह आयोजन हिन्दी पत्रकारिता दिवस के मौके पर हुआ।

मुख्य वक्ता के रूप में हिन्दुस्तान के कार्यकारी संपादक डॉ. तीरविजय सिंह ने समाचारों के प्रस्तुतीकरण के व्यावहारिक पक्ष पर चर्चा की। कहा कि पत्रकारिता में विषय का चुनाव अहम है। अध्यक्षता करते हुए विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टीएन सिंह ने कहा कि पत्रकारिता में प्रशिक्षण की आवश्यकता है। पत्रकारिता को पढ़ना पत्रकारीय कार्य से अलग है। विशिष्ट अतिथि और वरिष्ठ पत्रकार वीरेन्द्र कुमार आर्य ने कहा कि पाठकों को सही और सकारात्मक जानकारी देना मीडिया संस्थान की जिम्मेदारी है। 

गुजरात विद्यापीठ, अहमदाबाद में पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डॉ. विनोद पाण्डेय ने कहा कि व्यावसायिकता के दौर में भी समाचार पत्रों ने ‘वाच डॉग’ की भूमिका निभाई है। हिसार स्थित गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में मीडिया अध्ययन संकाय के वरिष्ठ प्रोफेसर प्रो. मनोज दयाल ने कहा कि वर्तमान युग को पत्रकारिता युग कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी। बीएचयू के प्रो. अनुराग दवे ने पत्रकारिता के मुद्दों और चुनौतियों पर चर्चा की।

तकनीकी सत्र में गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय की डॉ. गोपा बागची ने कहा कि बाजारवाद के बीच भी सामाजिक सरोकार की पत्रकारिता संभव है। वेबिनार में डॉ. परमात्मा कुमार मिश्र, डॉ. अवध बिहारी सिंह, डॉ. राम प्रवेश राय, डॉ. प्रीति, डॉ.रजनीश चतुर्वेदी, डॉ. अरुण कुमार शर्मा, डॉ. नागेन्द्र पाठक, डॉ. रमेश कुमार सिंह, डॉ. शिवजी सिंह, डॉ. अजय वर्मा, डॉ. रश्मि श्रीवास्तव आदि ने भी आदि ने भी विचार व्यक्त किए।  डॉ. विनोद कुमार सिंह ने विषय प्रवर्तन किया। संचालन डॉ. प्रभाशंकर मिश्र और धन्यवाद ज्ञापन डॉ. मनोहर लाल ने किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Webinar at Vidyapeeth Questioning the reliability of information due to social media