DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्वनाथ मंदिर आने वाले श्रद्धालु हैं, अपराधी नहीं

काशी विश्वनाथ मंदिर

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर न्यास परिषद के अध्यक्ष पं. अशोक द्विवेदी ने कहा है कि बाबा के दरबार में दर्शन पूजन के लिए आने वाले लोग श्रद्धालु हैं, कोई अपराधी नहीं। उनके साथ असंवेदनशील आचरण करने वाले सुरक्षाकर्मी एक पल भी गर्भगृह में खड़े होने के अधिकारी नहीं हैं। 

सावन के पहले दिन मंदिर के गर्भगृह से दर्शनार्थियों को धक्का देकर निकाले जाने की घटना पर कड़ी आपत्ति जताते हुए श्री द्विवेदी ने कहा कि उन्होंने प्रदेश के डीजीपी तक बात पहुंचाई है। मंदिर के गर्भगृह से दर्शनार्थियों को गर्दन पकड़ कर धक्का देते हुए बाहर करने वाला वायरल वीडियो भी उन्होंने उच्चाधिकारियों को प्रेषित किया है। 

उन्होंने जिला प्रशासन के आला अधिकारियों से अनुरोध किया है कि गर्भगृह में इस प्रकार का अमानवीय आचरण करने वाले सुरक्षाकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए। लोग हजारों किलोमीटर की यात्रा करके बाबा दरबार में आते हैं। जब गर्भगृह में उनके साथ ऐसा आचरण होगा तो लोग धीरे-धीरे आना छोड़ देंगे। फिर उन तमाम प्रयासों का कोई मतलब नहीं रहेगा जो केंद्र और  प्रदेश के सरकार भक्तों को अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए कर रही हैं। पुलिस कर्मी सामान्य भक्तों को भी अपने परिवार का सदस्य समझें और वैसा ही आचरण उनके साथ करें। अन्यथा सोशल मीडिया के जमाने में पूरी दुनिया में बनारस की भद्द पिटने से कोई नहीं रोक पाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Vishwanath temple is worshiped not guilty