DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  वाराणसी  ›  नई शिक्षा नीति के अनुरूप अपग्रेड होगा विद्यापीठ
वाराणसी

नई शिक्षा नीति के अनुरूप अपग्रेड होगा विद्यापीठ

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 03:31 AM
नई शिक्षा नीति के अनुरूप अपग्रेड होगा विद्यापीठ

वाराणसी। वरिष्ठ संवाददाता

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के नए कुलपति की लंबे इंतजार के बाद नियुक्ति हो गई। कुलाधिपति व राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बुधवार को नए कुलपति के रूप में प्रो. आनंद कुमार त्यागी के नाम पर मुहर लगा दी। पंजाब के फिरोजपुर स्थित शहीद भगत सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी में एप्लाइड फिजिक्स विभाग में कार्यरत प्रो. त्यागी काशी विद्यापीठ के 35वें कुलपति होंगे। मैटेरियल फिजिक्स के जाने माने विद्वान प्रो. त्यागी एक कुशल प्रशासक भी हैं। वह शहीद भगत सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी के संस्थापक सदस्य भी रह चुके हैं।

‘हिन्दुस्तान से फोन पर बातचीत में प्रो. त्यागी ने बताया कि वह मेरठ के एक गांव में जन्मे जो अब बागपत जिले का हिस्सा है। शुरुआती शिक्षा गांव से ही हुई। आगे की शिक्षा उन्होंने गाजियाबाद के पास मोदीनगर में ग्रहण की। 1988 से 90 तक उन्होंने आईआईटी कानपुर से एप्लाइड फिजिक्स में एमटेक किया। इसके बाद पंजाब में गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी में शिक्षण प्रारंभ किया। 1995 में स्थापित शहीद भगत सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी फिरोजपुर के वह संस्थापक सदस्य रहे और वर्ष 2005 में प्रोफेसर बने। प्रो. त्यागी ने काशी विद्यापीठ को लेकर अपने विजन की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि विद्यापीठ का समृद्ध इतिहास रहा है। नई शिक्षा नीति के अनुरूप संस्थान को अपग्रेड करना उनकी प्राथमिकता रहेगी। उन्होंने कहा कि टीचर्स ट्रेनिंग के साथ विद्यार्थियों में स्किल डेवलपमेंट भी बेहद जरूरी है। साथ ही, किसी भी संस्थान की उन्नति के लिए दूसरे राज्यों और देशों के विद्यार्थियों का यहां होना बेहद जरूरी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि अध्यापकों, कर्मचारियों और छात्र-छात्राओं के सहयोग से काशी विद्यापीठ को परम्परागत के साथ ही आधुनिक शिक्षा का केंद्र बनाया जाएगा।

संबंधित खबरें