DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसीः शहर के बड़े इलाके में 37 घंटे नहीं रही बिजली, भीषण उमस में तड़पे लोग

वाराणसी शहर के एक दर्जन से ज्यादा मुहल्ले के लोगों को 37 घंटे बिजली नहीं मिली। इससे भीषण उमस अौर पानी संकट से गुस्साए लोगों ने कई बार चक्काजाम किया। सड़क पर यातायात रोकने के लिए कूड़ा गाड़ियों को खड़ा कर दिया था। कुछ देर के लिए बारिश शुरू हुई तब लोग नहीं हटे। जाम लगाने के पहले मछोदरी उपकेन्द्र पहुंचे लोगों का तेवर देख  उपकेन्द्र पर तैनात कर्मचारी भाग खड़े हुए। 

शाम सात बजे के आसपास पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट कमलेशचंद्र और इंस्पेक्टर आशुतोष ओझा को आक्रोशित लोगों को समझाने में काफी मेहनत करनी पड़ी। बाद में अधीक्षण अभियंता दीपक अग्रवाल के माफी मांगने पर लोग शांत हुए और जाम समाप्त किया। रविवार सुबह लगभग सवा सात बजे से बाधित हुई बिजली आपूर्ति सोमवार रात पौने आठ बजे नार्मल हुई। 

पहले मछोदरी के 33 केवी और फिर लेढ़ूपुर के 132 केवी उपकेन्द्रों में आई तकनीकी खराबी के कारण डेढ़ दर्जन से अधिक मोहल्लों के लोगों को बिजली के साथ पानी का भी गंभीर संकट झेलना पड़ा। आक्रोशित लोगों ने रविवार शाम और रात को भी चक्का जाम व प्रदर्शन किया था। तब बिजली अफसरों ने सोमवार सुबह तक आपूर्ति बहाल हो जाने का आश्वासन दिया था मगर सोमवार को भी दोपहर तक वही स्थिति बने रहने पर लोग पुन: सड़क पर उतर आए। प्रदर्शन में सुशील कुमार, बबलू, ज्ञानचंद प्रजापति, सुनील जायसवाल, राहुल कुमार, सुनील कुमार, संजू देवी, मुन्नी देवी, तारा देवी, ममता,, शकुंतला देवी, मीना देवी, अनीता देवी, अंकित अग्रवाल, राजू सहानी, गोविंद, रामाश्रय आदि शामिल थे। 
दोबारा फाल्ट से दिक्कत हुई

मछोदरी तिराहा पर पहुंचे अधीक्षण अभियंता दीपक अग्रवाल ने लंबी कटौती के लिए लोगों से माफी मांगी। बताया कि सोमवार दोपहर एक बजे तक फॉल्ट ठीक कराया जा चुका था लेकिन लेढ़ूपुर उपकेन्द्र पर दोबारा फॉल्ट के कारण समस्या हुई। 

एमडी भी पहुंचे उपकेंद्र
पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी गोविंद राजू एनएस और निदेशक तकनीकी अंशुल अग्रवाल भी सोमवार को 132 केवी लेढ़ूपुर उपकेंद्र पर पहुंचे। 

इन इलाकों के लोग जूझे
ओंकालेश्वर, त्रिलोचन महादेव, नचनी कुआं, गायघाट, सक्का घाट, पाटन दरवाजा, मुकीमगंज, हरतीरथ, कामेश्वर महादेव, छित्तनपुरा, कोयला बाजार,  इमिलिया तले, गोलाघाट, लालघाट,  कतुआपुरा, बंगाली बाड़ा, बहेलिया टोला, बीबी हटिया, हाथी गली, आदमपुरा, पीलीकोठी, अंबिया मंडी, मुर्गिया टोला, कच्ची बाग, छित्तनपुरा आदि।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Varanasi No electricity for 37 hours in the big area of the city people agitated in grief