DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UP board result: इंटरमीडिएट के टापरों की कहानी, उनकी जुबानी

सिविल सेवा में जाएंगी श्वेता मौर्या (फोटो-मोहम्मद मुकीद)

1 / 3सिविल सेवा में जाएंगी श्वेता मौर्या (फोटो-मोहम्मद मुकीद)

इंजीनियर बन देश सेवा करना चाहते हैं सुरेंद्र (फोटो-मोहम्मद मुकीद)

2 / 3इंजीनियर बन देश सेवा करना चाहते हैं सुरेंद्र (फोटो-मोहम्मद मुकीद)

रैंक 3- शिवानी सिंह यादव (88.20%) (फोटो-मोहम्मद मुकीद)

3 / 3रैंक 3- शिवानी सिंह यादव (88.20%) (फोटो-मोहम्मद मुकीद)

PreviousNext

रैंक 1- सुरेंद्र कुमार यादव (88.80)
श्री अंबिका प्रसाद भैरवतालाब इंटर कॉलेज के इंटर के छात्र सुरेंद्र कुमार यादव पीएम के गोद लिए गांव नागेपुर से सटे सबलपुर के हैं। सुरेंद्र कुमार यादव ने बताया कि पिता पावरलूम चलाते हैं। थोड़ी खेतीबारी भी है। पिता पन्ना लाल यादव बेटे की सफलता से बेहद खुश थे। सुरेंद्र कुमार यादव का कहना था कि वह इंजीनियर बनकर देश सेवा करना चाहते हैं और मां-पिता का नाम रोशन करना चाहते हैं। कोचिंग से नहीं, बल्कि खुद सात से आठ घंट मेहनत कर सफलता पाई।
हिन्दी-86, अंग्रेजी-84 ,गणित-94 ,फिजिक्स- 90, रसायन- 90

रैंक 2- श्वेता मौर्या (88.40)
रोहनिया के स्वामी श्रद्धानंद सरस्वती इंटरमीडिएट कॉलेज गोविंदपुर की छात्रा श्वेता मौर्या ने इंटर में जिले में दूसरा स्थान पाया है। परजनपुर बनकट की श्वेता सिविल सर्विसेज में जाना चाहती हैं। इनके पिता राजबहादुर मौर्य जनरल स्टोर चलाते हैं। श्वेता ने बताया कि रात-दिन पढ़ाई का फल है। मैं सिविल परीक्षा की तैयारी करना चाहती हूं। वह आईएएस बनकर जनता की सेवा करना चाहती हैं। वह सिविल सर्विसेज को ध्यान में रखते हुए आगे की पढ़ाई करेंगी। कहा कि परिवार, गुरुजनों का नाम रोशन करना चाहती हूं। 
हिन्दी-86, अंग्रेजी-83,गणित-95,फिजिक्स- 90, रसायन-88

रैंक 2- संघर्ष सिंह (88.40)
जेएस पब्लिक इण्टर कालेज परमानंदपुर जंसा के छात्र संघर्ष सिंह ने इंटर में जिले में दूसरा स्थान पाया है। रामडीह के संघर्ष सिंह बचपन से होनहार रहे। बताया कि सफलता के पीछे प्रतिदिन साढ़े छह घंटे की पढ़ाई थी।  कहा कि पढ़ाई में वह रीविजन के लिए वह अलग से समय निकालते थे। रीविजन बहुत जरूरी है। पिता दयाशंकर सिंह किसान हैं। कहा कि माता-पिता की प्र्रेरणा से वह जिले में दूसरे नंबर पर आ पाये।

रैंक 3- शिवानी सिंह यादव (88.20)
मुझे हाईस्कूल में भी 85 फीसदी अंक मिले थे। इंटर में भी अच्छे नंबर मिलने से हौसला बढ़ा। मेरे पिता आरटीओ आफिस में काम करते हैं। मां गृहिणी हैं। मुझे आगे चल कर मैकेनिकल इंजीनियरिंग करना है। खाली समय में डांस करना पसंद है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP board result Intermediate Toppers Interview