DA Image
5 अगस्त, 2020|9:32|IST

अगली स्टोरी

BHU में कोरोना सैंपल की जांच करने वाली छात्रा तक पहुंचा संक्रमण, रिपोर्ट पॉजिटिव, लैब सील

बीएचयू के माइक्रोबायोलाजी लैब में कोरोना सैंपलों की जांच करने वाली एक छात्रा संक्रमित हो गई है। छात्रा की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही लैब में जांच का काम बंद कर दिया गया है। लैब को सील कर दिया गया है। सैनिटाइजेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही लैब में जांच शुरू होगी। लैब में काम करने वाले अन्य लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया है। छात्रा को बीएचयू अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। इससे पहले गुरुवार को शिवपुर स्थित सीएचसी से कोरोना मरीजों का सैंपल बीएचयू पहुंचाने वाले वार्ड ब्वाय में संक्रमण मिला था। इस केस को मिलाकर वाराणसी में 61 कोरोना पॉजिटिव केस हो गए हैं।

आईएमएस बीएचयू के माइक्रोबायोलॉजी लैब में मार्च के शुरुआत से ही कोरोना के संदिग्ध मरीजों के सैंपल की जांच हो रही है। पूर्वांचल के एक दर्जन से ज्यादा जिलों से यहां जांच के लिए सैंपल भेजे जा रहे हैं। सैंपलों की जांच के लिए कई टीमें बनाई गई हैं। इसी में से एक टीम में छात्रा भी थी। जिलाधिकारी के अनुसार प्रारंभिक जांच में छात्रा को इन्फेक्शन घर से ही हुआ है। उनके एक परिवारिक सदस्य को कुछ दिन पहले बुखार हुआ था। इसके बाद छात्रा में सिम्टम आने पर टेस्टिंग लैब के प्रोटोकॉल के तहत तत्काल सैंपल लिया गया। लैब के अन्य कर्मियों के सैंपल लिए गए। सभी निगेटिव पाए गए हैं।

छात्रा चेतगंज के बागबरियार सिंह मुहल्ले की रहने वाली है। इससे बागबरियार सिंह अब 25वां हॉटस्पॉट बनाया जा रहा है। इनके सभी घर के सदस्यों की सैंपलिंग कराई जाएगी तथा इनके हॉटस्पॉट व बफर जोन में सभी लोगों की स्क्रीनिंग तथा सिंप्टोमेटिक लोगों की टेस्टिंग भी कराई जाएगी। इसके लिए अलग से स्वास्थ्य विभाग की टीम लगाई जा रही है। 

बीएचयू में 13 जनपदों के कोरोना सैंपल टेस्ट के लिए आ रहे हैं। यह केस आने के बाद इस लैब को तीन दिन के लिए बंद करके पूरी तरह सैनिटाइज किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग उत्तर प्रदेश के द्वारा इन सभी 13 जनपदों के लिए दूसरे जिलों में वैकल्पिक लैब की व्यवस्था निर्धारित कर दी गई है। वाराणसी और चंदौली ज़िलों के लिए लखनऊ को निर्धारित किया गया है। जहां उनके सैंपल आने वाले 3 दिन के लिए भेजे जाएंगे।

3 दिन के उपरांत इस लैब को अब नए ट्रेनिंग प्राप्त डॉक्टर्स व कर्मचारियों के द्वारा चलाया जाएगा। अभी तक इस लैब में कार्य करने वाले सभी लोगो को 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। कोरोना पॉजिटिव छात्रा से जिला प्रशासन व बीएचयू के वरिष्ठ अधिकारियों ने फोन पर बातचीत की और  हौसला अफजाई की गई है। इतने दिनों तक अनवरत दिन रात काम करके जनपद की सेवा करने के लिए उनकी प्रशंसा की गई है। उन्हें कोराना से लड़ने के लिए मनोबल ऊंचा रखने के लिए प्रेरित करते हुए बताया गया है कि उनकी इस संकट की घड़ी में पूरा वाराणसी उनके साथ खड़ा है। सभी प्रार्थना करेंगे कि वे जल्दी ही स्वस्थ होकर घर लौटें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Transition to the student who investigated the corona sample in BHU investigation stopped as soon as the report came positive