DA Image
23 अक्तूबर, 2020|12:50|IST

अगली स्टोरी

विश्वनाथ धाम की डिजाइन में होगा बदलाव

विश्वनाथ धाम की डिजाइन में होगा बदलाव

काशी वि‌श्वनाथ धाम की डिजाइन बदलने जा रही है। धाम के निर्माण के दौरान छोटे-छोटे मंदिरों व मिट्टी के अंदर पत्थरों के मिलने से निर्धारित गहराई तक नींव बनाने में आ रही दिक्कतों के मद्देनजर कई भवनों के प्रस्तावित आकार-प्रकार में परिवर्तन किया जायेगा। निर्माण एजेंसी पीएसपी ने इस सम्बंध में दो दिन पहले कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को परिवर्तन संबंधी प्रस्ताव सौंपा है।

प्रस्ताव के अनुसार धाम के अंदर वैदिक केंद्र व यात्री सुविधा केंद्र को बदला जाएगा। 888 वर्ग मीटर में प्रस्तावित वैदिक केंद्र अब पूजा गेस्ट हाउस के पास बनाया जायेगा। वहीं एंलाइनमेंट न मिलने के कारण यात्री सुविधा केंद्र की चौड़ाई करीब साढ़े तीन मीटर कम की जायेगी।

पीडब्ल्यूडी (काशी विश्वनाथ धाम प्रखंड) के अधिशासी अभियंता संजय गोरे ने बताया कि अहमदाबाद की कंसल्टेंट कम्पनी एचसीपी ने जब डीपीआर तैयार किया था, उस समय मौके पर पुराने भवन थे। भवनों को हटाने के बाद वैदिक विज्ञान केंद्र के निर्माण स्थल पर कई छोटे-छोटे मंदिर मिले हैं। वहां निर्माण करना संभव नहीं है। इसलिए ड्राइंग में बदलाव किया जायेगा।

पहले भी 10 भवनों की बदली थी ड्राइंग

विश्वनाथ धाम में इसके पहले भी 10 भवनों की ड्राइंग में बदलाव किया गया था। उनमें यात्री सुविधा केंद्र के तीन भवन, मंदिर परिसर, यूटिलिटी भवन, सेक्योरिटी दफ्तर, जनसुविधा केंद्र, भोगशाला, मुमुक्षु भवन आदि हैं।

मंडलायुक्त की अध्यक्षता वाली कमेटी लेगी निर्णय

डिजाइन में किसी के परिवर्तन के लिए प्रदेश सरकार ने मंडलायुक्त की अध्यक्षता में आठ विभागाध्यक्षों की टीम बनायी है। पीडब्ल्यूडी कमेटी की अगली बैठक में डिजाइन में बदलाव संबंधी प्रस्ताव रखेगा। कमेटी इस पर मुहर लगाने के बाद शासन को अवगत करायेगी।

कॉरिडोर में 24 भवनों का होना है निर्माण

परियोजना के तहत विश्वनाथ कॉरिडोर में छोटे-बड़े 24 भवनों का निर्माण प्रस्तावित है। इनमें मंदिर परिसर, मंदिर चौक, सिटी म्युजियम, वाराणसी गैलरी, बहुउद्देशीय हाल, टूरिस्ट फैसिलिटेशन सेंटर, जनसुविधा ब्लॉक, मुमुक्षु भवन, अतिथि गृह, नीलकंठ पवेलियन, सुरक्षा कार्यालय, यूटिलिटी ब्लॉक, गोदौलिया गेट, तीन यात्री सुविधा केंद्र, भोगशाला, आध्यात्मिक पुस्तक केंद्र, जलपान केंद्र, वैदिक केंद्र, सांस्कृतिक केंद्र और दुकानें शामिल हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:There will be a change in the design of Vishwanath Dham