The VandeBharat Express stood more than one and a half hours near the same station twice in three days - अजब संयोगः तीन दिन में दो बार एक ही स्टेशन के पास खड़ी हो गई वंदेभारत एक्सप्रेस DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अजब संयोगः तीन दिन में दो बार एक ही स्टेशन के पास खड़ी हो गई वंदेभारत एक्सप्रेस

देश की सबसे तेज रफ्तार ट्रेन वंदेभारत एक्सप्रेस के साथ शुरू से कई संयोग जुड़े हुए हैं। अब नया संयोग जुड़ा है। यह ट्रेन पिछले तीन दिनों में दो बार एक ही स्टेशन के पास जाकर खड़ी हो गई। रविवार को वाराणसी से नई दिल्ली जाते समय हरदत्तपुर स्टेशन के पहले ट्रेन खड़ी हुई तो मंगलवार को नई दिल्ली से वाराणसी आते समय हरदत्तपुर स्टेशन के ठीक पहले खड़ी हो गई। ट्रेन के खड़ी होने के कारणों पर फिलहाल अधिकारी एकमत नहीं हैं। कोई अोएचई में ट्रीपिंग को कारण मान रहा है तो कोई ट्रेन के पेंटो की गड़बड़ी बता रहा है। 

हरदत्तपुर-कछवां रोड के बीच मंगलवार को नई दिल्ली से वाराणसी आ रही वंदेभारत एक्सप्रेस करीब डेढ़ घंटे खड़ी रही। बताया गया कि वंदेभारत एक्सप्रेस राजातालाब और कछवां रोड के बीच पहुंची थी कि दोपहर 2.06 बजे ओएचई ट्रिप कर गई। ट्रेन वहीं खड़ी हो गई। शाम 3.50 बजे खराबी दूर किये जाने के बाद 4.15 बजे वाराणसी कैंट पहुंची।

इसी तरह रविवार को ओएचई ट्रिप होने से वंदेभारत एक्सप्रेस करीब दो घंटे तक हरदत्तपुर स्टेशन के पास खड़ी हुई थी। शाम 5.45 बजे ओएचई से आपूर्ति शुरू होने पर यह ट्रेन नई दिल्ली के लिए रवाना हो सकी थी। 

जिस स्थान पर ट्रेन तीन दिनों में दो बार खड़ी हुई उस रूट पर आरवीएनएल यानी रेल विकास निगम लिमिटेड की ओर से दोहरीकरण व विद्युतीकरण कार्य कराया गया है। अभी आठ सितंबर को ही हरदत्तपुर-कछवां रोड के बीच नई लाइन पर परीक्षण के बाद आवागमन शुरू हुआ है। इस बीच दो बार वंदेभारत एक्सप्रेस प्रभावित हुई।

रविवार को नई दिल्ली जाने वाली वंदेभारत एक्सप्रेस ढाई घंटे प्रभावित रही। इसकी रिपोर्ट में वंदेभारत एक्सप्रेस के पेंटो में ही खराबी बताई जा रही है, जबकि ट्रेन यहां तक ठीक से आ रही है। वाराणसी मंडल के वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक रोहित गुप्ता ने बताया कि रविवार के दिन की रिपोर्ट में वंदेभारत एक्सप्रेस के पेंटो में खराबी की बात कही गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The VandeBharat Express stood more than one and a half hours near the same station twice in three days