DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › वाराणसी › बेटी ने प्रेमी से कराई थी व्यवसायी की हत्या
वाराणसी

बेटी ने प्रेमी से कराई थी व्यवसायी की हत्या

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Mon, 02 Aug 2021 11:10 PM
बेटी ने प्रेमी से कराई थी व्यवसायी की हत्या

वाराणसी। कार्यालय संवाददाता

रोहनिया थाना क्षेत्र के कन्नाडाड़ी स्थित ओवरब्रिज के पूर्वी छोर पर 29 जुलाई की रात हुई किराना व्यवसायी की हत्या उसकी बेटी ने अपने प्रेमी से कराई थी। वह दोनों की शादी के खिलाफ था। पुलिस ने आरोपित बेटी 21 वर्षीय आंचल, उसके प्रेमी 22 वर्षीय जावेद अहमद और हत्या में मददगार 21 वर्षीय आकिब अंसारी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। आरोपितों के कब्जे हत्या में प्रयुक्त पिस्टल, वाहन और तीन मोबाइल बरामद किए गए हैं।

एसपी (¦ग्रामीण) अमित वर्मा ने सोमवार को बताया कि मिर्जामुराद थाना क्षेत्र के तमाचाबाद निवासी किराना व्यापारी राजेश जायसवाल उर्फ खन्ना की हत्या के बाद पत्नी साधना जायसवाल ने उनके भाई विजय जायसवाल सहित पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया था। इसी बीच सूचना मिली कि व्ययसायी की बेटी का गांव के एक लड़के जावेद से प्रेम-प्रसंग है। इस पर दोनों परिवार में कई बार विवाद हुआ था। पुलिस ने संदेह पर जावेद को पूछताछ के लिए बुलाया। पूछताछ में उसने बताया कि वह आंचल से प्रेम करता है, लेकिन उसके पिता शादी से इनकार कर रहे थे। इस कारण उनकी बेटी ने मुझसे कहा था कि पिता को रास्ते से हटा दो तो हमारी शादी हो जाएगी। इसके बाद जावेद अपने गांव के दोस्त आकिब अंसारी के साथ 29 जुलाई को अस्पताल में भर्ती अपनी सास को खाना देने जा रहे किराना व्यवसाई की हत्या कर दी।

पासपोर्ट आवेदन पर दिया था प्रेमी का नंबर

व्यवसायी की बेटी और जावेद के बीच तीन साल से प्रेम है। करीब एक वर्ष पूर्व व्यवसायी की बेटी ने पासपोर्ट के लिए आवेदन किया गया था। जिसमें उसने जावेद का नंबर दिया था। वेरीफिकेशन होने पर जानकारी के बाद व्यवसायी राजेश ने अपनी बेटी को डांटा था।

पिता का लोकेशन देती रही बेटी

दो महीना पहले जावेद व्यवसायी के घर में भी कूदा था। बदनामी से बचने के लिए चोर कहकर इस मामले को दबा दिया गया। दोनों एक दूसरे से शादी करने के लिए परिवार वालों पर दबाव बनाते रहे। लेकिन व्यवसायी राजेश राजी नहीं हुए। तब जावेद अहमद और आंचल ने राजेश जायसवाल को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। 29 जुलाई को आंचल ने जावेद को फोन से बताया कि उसके पिता नानी का खाना लेकर अस्पताल जा रहे हैं। तब अभियुक्त 22 वर्षीय जावेद ने अपने साथी 21 वर्षीय आकीब के साथ बाइक से व्यवसायी का पीछा करके उनकी हत्या कर दी।

घटना के बाद प्रेमी से पूछा काम हो गया

घटना के समय जावेद और आकीब ने अपना मोबाइल स्वीच आफ कर लिया था। हत्या के बाद जावेद घर पहुंचा तो उसने अपनी प्रेमिका को फोन किया। इस पर उसने पूछा कि काम हुआ कि नहीं। इस पर प्रेमी ने कहा कि पहले मैंने दो गोली चलाई लेकिन नहीं लगी बाद में दो गोली लग गई है।

बड़े पिता से झगड़े का उठाया फायदा

राजेश जायसवाल और उसके भाई विजय के बीच जमीन का विवाद चल रहा था। घटना से एक सप्ताह पहले दोनों में विवाद हुआ था। बेटी इसी का फायदा उठाना चाह रह थी। उसने अपने प्रेमी से कहा कि इस समय हत्या होगी तो आरोप बड़े पापा पर लगेगा। पुलिस का कहना है कि जब भाई पर हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया तो आरोपी निश्चिंत हो गए थे कि हम लोगों को अब कुछ नहीं होगा।

बेटी बोली जावेद से नहीं होती मेरी बात

पुलिस ने जब व्यवसायी की बेटी से पिता की हत्या के बारे में पूछा तो वो अनजान बनने लगी। पुलिस ने कहा कि जावेद से बात होती है तो उसने कहा कि अब बातचीत बंद है। इसके बाद पुलिस ने उसके सामने जावेद और उसके बीच हुई चैटिंग को रख दिया तो वह अवाक हो गई। उसने कहा कि पिता प्रेमी से मिलने नहीं देते थे, घर से बाहर भी नहीं जाने देते थे। इसके साथ काफी दबाव बनाते थे। इस कारण उन्हें मैंने रास्ते से हटाने का प्लान किया।

पिस्टल के लिए बेचा था मोबाइल

आरेापी जावेद गाड़ी चलाता है। हत्या के लिए उसने 20 हजार रुपए में बिहार से पिस्टल खरीदा था। वह इंटरमीडिएट तक पढ़ा है। वहीं आकिब पंक्चर बनाता है। पिस्टल खरीदने के लिए जावेद ने अपना मोबाइल 10 हजार में बेच दिया था। वहीं 10 हजार रुपए उसने गाड़ी चलाकर कमाये था।

संबंधित खबरें