ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश वाराणसी‘हर आंख से आंसू बहते हैं हर दिल में मातम होता है

‘हर आंख से आंसू बहते हैं हर दिल में मातम होता है

हजरत इमाम हुसैन और शोहदा-ए-कर्बला की याद में रविवार शाम लाट सरैंया स्थित सदर इमामबाड़ा में मातमी धुन के बीच दुलदुल का जुलूस निकाला गया। इस दौरान या...

‘हर आंख से आंसू बहते हैं हर दिल में मातम होता है
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,वाराणसीMon, 01 Aug 2022 01:51 AM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी, कार्यालय संवाददाता।

हजरत इमाम हुसैन और शोहदा-ए-कर्बला की याद में रविवार शाम लाट सरैंया स्थित सदर इमामबाड़ा में मातमी धुन के बीच दुलदुल का जुलूस निकाला गया। इस दौरान या हुसैन की सदाएं बुलंद हुईं। जुलूस में शामिल लोग ‘आज तक हम कर्बला की दांस्ता भूले नहीं..., ‘...हर आंख से आंसू बहते हैं हर दिल में मातम होता है आदि नौहा पढ़ते चल रहे थे। लोगों ने देश की तरक्की और खुशहाली की लिए भी दुआ मांगी।

पहली मोहर्रम को रविवार को लाट सरैंया स्थिम इमामबाड़े में भीड़ उमड़ी थी। महिलाएं बच्चों को लेकर मन्नत उतारने आई थी। इस दौरान इमाम हसन और इमाम हुसैन के नाम से फातिहा हुई। इसके बाद कई अंजुमनों ने नौहा मातम किया। छोटे बच्चे अलग समूह में मातम कर रहे थे। शायर अतश बनारसी, सज्जाद बनारसी, नकी बनारसी और इमरान हैदरी ने कलाम पेश किया। इमाम हुसैन के रौज़े से जुलूस बीबी फातिमा के रौज़े पे सलामी देने पहुंचा। जुलूस में मौलान मंजर नकवी, हाजी सैयद फरमान हैदर, मौलाना जायर हुसैन, मौलाना इक़बाल हैदर ने तक़रीर की।

‘उस्ताद के घर मजलिस आज

भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्ला खान के हड़हासराय स्थित आवास पर सोमवार को दोपहर 2 बजे कदीमी मजलिस होगी। इसके साथ ही रात 8 बजे शिवपुर में अंजुमने पंजतनी की ओर से अलम और दुलदुल का जूलूस निकलेगा।

epaper