DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  वाराणसी  ›  छात्र कल्याण के मद्देनजर ही कदम उठाएं

वाराणसीछात्र कल्याण के मद्देनजर ही कदम उठाएं

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:20 AM
छात्र कल्याण के मद्देनजर ही कदम उठाएं

वाराणसी। प्रमुख संवाददाता

किसी भी शिक्षण संस्थान के मूल में उसके विद्यार्थी ही सर्वोपरि होते हैं। इसलिए विद्यार्थियों के कल्याण और उनके लाभ को ध्यान में रखते हुए ही कोई भी कदम उठाया जाना चाहिए। ये बातें संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के नए कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने सोमवार को विवि परिवार के अधिकारियों, संकाय अध्यक्षों एवं विभागाध्यक्षों के साथ हुई बैठक में कहीं।

प्रो. राय ने कहा कि विश्वविद्यालय से संबंधित समस्त सूचनाएं समय से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और विवि की वेबसाइट पर अपलोड की जाएं। विश्वविद्यालय में पूर्व से जारी विकास योजनाओं को समय से पूरा कराने के साथ ही कार्यों की गुणवत्ता बनाए रखने पर भी उन्होंने विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में पठन-पाठन, परीक्षा से लेकर कार्यालयों में अधिकारियों-कर्मचारियों की समय से उपस्थिति को लेकर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। विवि में पूर्व में नियमों की अनदेखी के मामलों को संज्ञान लेते हुए उन्होंने कहा कि नियमों के पालन में किसी भी स्तर पर नरमी नहीं बरती जानी चाहिए।

बैठक में उन्होंने वर्तमान परिस्थिति में ऑनलाइन शिक्षा एवं नई शिक्षा नीति पर चर्चा की। ऑनलान शिक्षा के सकारात्मक और नकारात्मक दोनों ही पक्षों पर विवि के शिक्षकों से सुझाव मांगे। उन्होंने परीक्षा संबंधित तैयारियों तथा छात्रों के हित के लिए उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी ली। यह भी कहा कि परिसर में स्वच्छता बनाए रखना सभी का नैतिक दायित्व है।

जनसंपर्क अधिकारी शशींद्र मिश्र के अनुसार बैठक में परिक्षा नियंत्रक विशेश्वर प्रसाद, कुलसचिव केश लाल, प्रो. सुधाकर मिश्र, प्रो. हरिप्रसाद अधिकारी, प्रो. जितेंद्र कुमार, प्रो. रमेश प्रसाद, प्रो. महेंद्र पांडेय, प्रो. शैलेश कुमार, प्रो. अमित कुमार शुक्ल, प्रो. ब्रजभूषण ओझा आदि रहे।

संबंधित खबरें