Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश वाराणसीहड़ताल से मरीज कम पर चिकित्सकों पर बढ़ा लोड

हड़ताल से मरीज कम पर चिकित्सकों पर बढ़ा लोड

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीNewswrap
Thu, 02 Dec 2021 09:50 PM
हड़ताल से मरीज कम पर चिकित्सकों पर बढ़ा लोड

वाराणसी। कार्यालय संवाददाता

नीट पीजी काउंसलिंग में देर होने से नाराज आईएमएस बीएचयू के जूनियर डॉक्टर लगातार छठे दिन हड़ताल पर रहे। इस कारण ओपीडी में मरीजों को काफी परेशानी हुई। इससे ओपीडी में सीनियर रेजिडेंट और वरिष्ठ डॉक्टरों पर लोड बढ़ गया है। गुरुवार को अल्ट्रासाउंड कक्ष में सीनियर डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई गई थी। फिर भी लोगों को जांच के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। वहीं, ओपीडी में भी मरीजों को काफी इंतजार के बाद परामर्श मिला। वहीं जूनियर डॉक्टरों से हड़ताल खत्म करने की आईएमएस बीएचयू के निदेशक प्रो. बीआर मित्तल ने दूसरी बार अपील की है। उन्होंने जूनियर डॉक्टरों से काम पर लौटने का आग्रह किया है।

उधर, हड़ताल से ओपीडी में मरीजों की संख्या 40 फीसदी तक कम हो गई है। रोजाना जहां पांच हजार मरीज ओपीडी में आ रहे थे, अब इनकी संख्या 2500 के आसपास हो गई है। जूनियर डॉक्टर ओपीडी, वार्ड, ट्रॉमा सेंटर छोड़ आईएमएस में धरने पर बैठ गए हैं। जूनियर डॉक्टरों ने सीटी स्कैन सेंटर के सामने इकट्ठा होकर विरोध प्रदर्शन किया।

आगे की रणनीति के लिए आज लेंगे निर्णय

जूनियर डॉक्टर इस हड़ताल को जारी रखेंगे या वापस काम पर लौटेंगे इस पर शुक्रवार को निर्णय होगा। जूनियर डॉक्टरों ने बताया कि या तो हड़ताल खत्म कर दिया जाएगा या इमरजेंसी से भी हाथ खींच लेंगे।

स्ट्रेचर पर लेटे रहे मरीज डॉक्टर का करते रहे इंतजार

जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के चलते मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। कई गंभीर मरीजों को घंटों डॉक्टर का इंतजार करना पड़ा। स्ट्रेचर पर लेटने से उनकी परेशानी बढ़ गई थी। बड़ी संख्या में मरीज अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे।

epaper

संबंधित खबरें