ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश वाराणसीइनडोर खेलों और स्वीमिंग के लिए स्पोर्ट्स काम्लेक्स तैयार

इनडोर खेलों और स्वीमिंग के लिए स्पोर्ट्स काम्लेक्स तैयार

सिगरा स्टेडियम में बन रहे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के पहले फेज का काम पूरा हो चुका है। इसके तहत बने ‘कंपटीशन ऐंड कम्युनिटी इनडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स...

सिगरा स्टेडियम में बन रहे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के पहले फेज का काम पूरा हो चुका है। इसके तहत बने ‘कंपटीशन ऐंड कम्युनिटी इनडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स...
1/ 2सिगरा स्टेडियम में बन रहे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के पहले फेज का काम पूरा हो चुका है। इसके तहत बने ‘कंपटीशन ऐंड कम्युनिटी इनडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स...
सिगरा स्टेडियम में बन रहे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के पहले फेज का काम पूरा हो चुका है। इसके तहत बने ‘कंपटीशन ऐंड कम्युनिटी इनडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स...
2/ 2सिगरा स्टेडियम में बन रहे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के पहले फेज का काम पूरा हो चुका है। इसके तहत बने ‘कंपटीशन ऐंड कम्युनिटी इनडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स...
हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीFri, 23 Feb 2024 02:45 AM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी, वरिष्ठ संवाददाता।
सिगरा स्टेडियम में बन रहे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के पहले फेज का काम पूरा हो चुका है। इसके तहत बने ‘कंपटीशन ऐंड कम्युनिटी इनडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स का लोकर्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को करेंगे। 66782.4 वर्ग मीटर में हुए निर्माण में ही खिलाड़ियों को सभी इनडोर गेम्स और स्वीमिंग की सुविधाएं मिलने लगेंगी।

पहले फेज के निर्माण में करीब 91.01 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आरपी सिंह, स्मार्ट सिटी के मुख्य प्रबंधक डी. वासुदेवन ने गुरुवार को इस बारे में विस्तार से जानकारी दी। बताया कि यह देश का पहला अत्याधुनिक मल्टी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स है। इसमें मल्टीपरपज हाल में कई खेल हो सकते हैं। बैडमिंटन के 10 कोर्ट, स्क्वाश के चार कोर्ट, बिलियर्ड्स के चार टेबल रूम, दो इनडोर बास्केटबॉल कोर्ट, 20 टेबल टेनिस, कवर्ड ओलंपिक साइज स्विमिंग पूल, कवर्ड वार्म अप स्विमिंग पूल, जिमनास्टिक, जूडो, कराटे, मार्शल आर्ट्स, योगा, रेसलिंग, ताइक्वांडो, बॉक्सिंग, वेट लिफ्टिंग, हाईटेक जिम्नेजियम (दो मंजिल का) बना है। बोर्ड गेम्स खेल खेले जा सकेंगे। बताया कि भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पुलेला गोपीचंद, राइफल निशानेबाज गगन नारंग और पैरा ओलंपिक खेलों में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला दीपा मलिक भी स्टेडियम की तारीफ कर चुकी हैं।

आउटसोर्सिंग पर संचालन, होगा एमओयू

स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में विभागीय खेल प्रतियोगिताएं हो सकेंगी। निजी संस्थाएं या आयोजक बुकिंग कराकर कांप्लेक्स इस्तेमाल कर सकेंगे। आम पब्लिक के लिए यह खुलेगा या नहीं, इसकी रूपरेखा तैयार हो रही है। हालांकि आमजन के लिए भी शुल्क लेकर इसके इस्तेमाल की बात स्मार्ट सिटी के मुख्य प्रबंधक ने कही। बताया कि स्मार्ट सिटी, साई (खेलो इंडिया) व खेल निदेशालय की ओर से संयुक्त रूप से बोर्ड मीटिंग में रूपरेखा तय होगी। संपूर्ण संचालन के लिए आउटसोर्सिंग एजेंसी रहेगी। रूपरेखा बनाकर एजेंसी से एमओयू किया जाएगा।

पहले फेज के निर्माण पर एक नजर

लागत: 90.01 करोड़ रुपये

क्षेत्रफल: 66782.4 वर्ग मीटर

लंबाई: 150 मीटर, ग्राउंड प्लस दो मंजिल

निर्माण की खासियत

- स्ट्रक्चर स्टील का है एवं डेक स्लैब सिस्टम से सभी छत पड़ी हैं। मोडुलर इंसुलेटेड दीवारें, जिप्सम प्लास्टर इत्यादि से निर्मित भवन में निर्माण में न्यूनतम पानी का इस्तेमाल।

- ग्रीन बिल्डिंग मानक पर बने भवन में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, डबल ग्लेज्ड इंसुलेटेड ग्लास, डबल स्किन इंसुलेटेड रूफ शीटिंग, रीसाइक्लेड जल को फ्लशिंग एवं हरियाली में इस्तेमाल किया जाएगा।

ये सुविधाएं भी

- स्पोर्ट्स लाइब्रेरी, कॉम्बैट स्पोर्ट्स हॉल, स्पोर्ट्स सेमिनार हॉल, कई कैफे, फील्ड व्यू लाउंज।

- समाज के हर वर्ग एवं हर आयु के लोगों के लिए सुविधाएं।

- मॉर्निंग वॉकरों के लिए स्टेडियम की परिधि में सॉफ्ट नेचुरल ट्रै्क।

ये काम भी 90 फीसदी पूरे

आगे के दो फेज के काम भी युद्धस्तर पर चल रहे हैं, जो लगभग 90 प्रतिशत पूर्ण हैं। इसमें नेशनल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस भवन, 180 शैय्या का हॉस्टल ब्लॉक, कोचेस एकोमोडेशन, एथलेटिक ट्रैक, फुटबॉल फील्ड, क्रिकेट फील्ड, लॉन टेनिस कोर्ट।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें