DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्लाईओवर हादसा : सेतु निगम के अफसरों ने जेल में करवटें बदलते गुजारी रात

बैरक नम्बर 10 में बंद हैं अफसर, जेल का ही खाया खाना

चौकाघाट फ्लाईओवर हादसे में गिरफ्तार हुए सेतु निगम के अधिकारियों ने जिला जेल में शनिवार की रात करवटें बदलते गुजारीं। इन्हें जेल की बैरक नम्बर 10 में आम कैदियों के साथ रखा गया है। उन्होंने रात को जेल का ही खाना खाया। 

चौकाघाट फ्लाईओवर हादसे में लापरवाही के घेरे में आए सेतु निगम के सात अभियंता और एक ठेकेदार शनिवार को गिरफ्तार किए गए थे। जेल सूत्रों के अनुसार सभी को बैरक नम्बर 10 में आम कैदियों के साथ रखा गया है। शनिवार की रात में उनको जेल में ही बना चावल, दाल, रोटी और आलू-पालक की सब्जी दी गई। परेशान अधिकारियों ने बहुत कम खाना खाया। सभी अभियंता जेल की सलाखों के बीच काफी परेशान रहे। 

रविवार सुबह अधिकारियों के परिजन फल लेकर उनसे मिलने पहुंचे। मुलाकात के दौरान परिजनों ने जल्द जमानत के लिए अर्जी दाखिल करने का आश्वासन दिया। कई अधिकारी परिजनों से मिलकर रो पड़े। परिजनों ने जेल प्रशासन से अभियंताओं के साथ  अच्छा व्यवहार करने की अपील की। 

जेलर पवन त्रिवेदी ने बताया कि सेतु निगम के अधिकारियों को आम कैदियों की तरह ही खाना दिया जा रहा है। वे जेल की कैंटीन से कुछ लेकर खा सकते हैं। बाहर से खाना ले जाने की अनुमति नहीं है। 

ज्ञात हो कि शनिवार को क्राइम ब्रांच ने सीबीआरआई (सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इस्टीट्यूट, रुड़की) की रिपोर्ट आने के बाद सेतु निगम के तत्कालीन मुख्य परियोजना प्रबंधक हरिश्चंद्र तिवारी, पूर्व परियोजना प्रबंधक गेंदा लाल, तत्कालीन परियोजना प्रबंधक कुलजश राय सूदन, तत्कालीन सहायक अभियंता राजेंद्र सिंह, तत्कालीन सहायक अभियंता (यांत्रिक- सुरक्षा) राम तपस्या सिंह यादव, तत्कालीन अवर अभियंता (सिविल) लालचंद्र सिंह व राजेश पाल सिंह और ठेकेदार साहेब हुसैन को गिरफ्तार किया था। 

कैदियों के बीच मारपीट के बाद बढ़ी सतर्कता 
जिला जेल में शनिवार रात बैरक नम्बर पांच में कैदियों के बीच हुई मारपीट के बाद सतर्कता बढ़ा दी गई है। इसके मद्देनजर रविवार को भी बैरकों की तलाशी ली गई और कैदियों को आपस में झगड़ा न करने का सख्त निर्देश दिया गया। अधिकारियों ने सुरक्षाकर्मियों को बवाल करने वाले कैदियों पर 24 घंटे नजर रखने का निर्देश दिया है। कैदियों की संख्या अधिक होने के कारण जेल प्रशासन को उन्हें संभालने में काफी समस्याएं हो रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Setu corporation officers in jail