ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश वाराणसीएसडीएम सदर ने अपने ही आदेश पर लगाई रोक

एसडीएम सदर ने अपने ही आदेश पर लगाई रोक

उपजिलाधिकारी (सदर) सार्थक अग्रवाल की कोर्ट ने उच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में प्रार्थी की रिकॉल सबंधित अर्जी स्वीकार करते हुए अपने पूर्व आदेश...

एसडीएम सदर ने अपने ही आदेश पर लगाई रोक
हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीTue, 14 May 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी, विशेष संवाददाता। उपजिलाधिकारी (सदर) सार्थक अग्रवाल की कोर्ट ने उच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में प्रार्थी की रिकॉल सबंधित अर्जी स्वीकार करते हुए अपने पूर्व आदेश पर रोक लगा दी है। साथ ही वादी अधिवक्ता को आपत्ति दाखिल करने का निर्देश दिया है। मामले में अगली सुनवाई 12 जून को होगी।
पिछले दिनों इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एसडीएम सदर को निर्देश दिया है कि वह याची के प्रार्थनापत्र पर सुनवाई कर उसे निस्तारित करें। लेकिन एसडीएम सदर ने लेखपाल की रिपोर्ट के आधार पर नगवां स्थित विवादित भूमि को सरकारी खाते में दर्ज कराते हुए जमीन पर काबिज लोगों को बेदखल करने का आदेश दिया था। इससे करीब 300 से ज्यादा परिवार संकट में आ गये थे। इसकी जानकारी पर नगवां निवासी जयनारायण मिश्र ने एसडीएम कोर्ट में आवेदन दिया तो कार्यालय ने यह कहते हुए प्रार्थना पत्र लौटा दिया कि कोई प्रार्थना पत्र स्वीकार करने का उच्च अधिकारियों की ओर से आदेश नहीं है। तत्पश्चात कुछ दिनों पूर्व जयनारायण मिश्र सहित अन्य की ओर से हाईकोर्ट में एसडीएम कोर्ट के आदेश को चुनौती देते हुए याचिका दाखिल की गई थी। हाईकोर्ट ने याची की याचिका स्वीकार करते हुए एसडीएम कोर्ट को सभी पक्षों पूरी तरह सुनने का आदेश दिया है। जिसके क्रम में एसडीएम सदर अपने आदेश पर रोक लगाते हुए रिकॉल सम्बंधित प्रार्थना पत्र स्वीकार कर लिया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें
अगला लेख पढ़ें