DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  वाराणसी  ›  बनारस में छिनैती के सात घंटे के भीतर लुटेरे दबोचे गए
वाराणसी

बनारस में छिनैती के सात घंटे के भीतर लुटेरे दबोचे गए

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 03:30 AM
बनारस में छिनैती के सात घंटे के भीतर लुटेरे दबोचे गए

वाराणसी। हिन्दुस्तान टीम

खोजवां में शुक्रवार दोपहर करीब डेढ़ बजे चेन स्नेचिंग के बाद देर शाम पौने आठ बजे फिर से लूट करने निकले प्रयागराज के दो शातिर बदमाशों को क्राइम ब्रांच और कमिश्नरेट पुलिस ने लौटूवीर में घेर लिया। खुद को घिरता देख बदमाश ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से बदमाश घायल हो गये। दोनों बदमाशों के बाएं पैर में गोली लगी है। बदमाशों के पास से बाइक, लूटी गई चेन, पिस्टल, कट्टा और कारतूस बरामद हुए हैं। खोजवां में छिनैती के सात घंटे के भीतर पुलिस को यह कामयाबी मिली है।

खोजवा की घटना के बाद पुलिस को सूचना थी कि बदमाश इधर ही सक्रिय हैं। सीरगोवर्धनपुर इलाके में लूट को अंजाम देकर एनएच के रास्ते भागने वाले हैं। इस सूचना पर क्राइम ब्रांच, स्वाट टीम और कमिश्नरेट पुलिस सिविल ड्रेस में नजर रखे थी। बाइक से बदमाश आते दिखे तो पुलिस ने रोकने का प्रयास किया। नीले रंग की अपाचे बाइक सवार बदमाश यू टर्न लेकर लौटूवीर की ओर भागने लगे। पुलिस ने पीछाकर लौटूवीर में घेर लिया। खुद को घिरता देख पीछे बैठे बदमाश ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में दोनों बदमाशों के बाएं पैर में घुटने के पास गोली लगी तो बाइक समेत गिर पड़े। पुलिस ने दोनों को दबोच लिया।

दोनों की पहचान प्रयागराज के धूमनगंज निवासी संतोष रावत (45) और कैंट के राजापुरा निवासी पवन कुमार (25) के रूप में हुई। पुलिस ने उन्हें रामनगर स्थित लालबहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। पुलिस टीम में क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी पांडेय, लंका इंस्पेक्टर महेश पांडेय, सिगरा इंस्पेक्टर अनूप शुक्ला, उप निरीक्षक अजय प्रताप सिंह, सूरज कुमार तिवारी, राजकुमार पांडेय, कांस्टेबल सुमित सिंह, बृजेश मिश्रा, अमित शुक्ला, राम बाबु, विनय सिंह आदि थे। मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाये।

प्रयागराज से आते थे बदमाश

पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि आरंभिक जांच में पता चला है कि पकड़े गये बदमाश ही भेलूपुर और लंका क्षेत्र में हाल में हुई चेन स्नेचिंग की घटनाओं को अंजाम देते थे। बुजुर्ग महिलाओं को निशाना बनाते थे। ये घटना को अंजाम देकर एनएच के रास्ते मिर्जामुराद होते हुए प्रयागराज भाग निकलते थे। उन्होंने क्राइम ब्रांच, कमिश्नरेट पुलिस और सर्विलांस टीम को पुरस्कृत करने की बात कही है।

पुलिस कमिश्नर ने जताई थी नाराजगी

नौ जून को लंका और भेलूपुर में तीन घटनाएं हुई थीं। तीनों में बदमाशों ने असलहे के बल पर चेन उतरवा लिया था। इसके बाद पुलिस कमिश्नर ने गहरी नाराजगी जताई थी।

संतोष रावत पर लूट के दर्जनों केस

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि बदमाश संतोष रावत पर लूट के दर्जनों मुकदमे पहले से दर्ज हैं। प्रयागराज पुलिस से संपर्क कर इसके बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है। बताया कि वह अभी हाल ही में जेल से छूटकर आया था। इसके बाद गैंग के सक्रिय सदस्यों के साथ लूट की घटनाएं करने लगा।

संबंधित खबरें