class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाबा साहब के विचारों व सिद्धांतों पर चलने का लें संकल्प

डॉ. भीमराव अम्बेडकर का 62वां परिनिर्वाण दिवस

बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के 62वें परिनिर्वाण दिवस पर लोगों ने उन्हें याद किया। विविध आयोजन हुए। संगोष्ठियों में वक्ताओं ने बाबा साहब के विचारों व सिद्धांतों को अमल करने पर जोर दिया। कचहरी स्थित अम्बेडकर पार्क में विशेष कार्यक्रम हुआ। 

अखिल भारतीय अनुसूचित जाति/जनजाति कर्मचारी कल्याण एसोसिएशन ने बाबा के परिनिर्वाण दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाया। भंते गुरुधम्मों ने त्रिशरण व पंचशील पूजन कर बुद्ध वंदना पेश किया। ‘संवैधानिक अधिकारों का संरक्षण एवं समता, स्वतंत्रता, न्याय व बंधुत्व पर आधारित भारत का निर्माण’ विषयक संगोष्ठी हुई। मुख्य अतिथि संस्था के राष्ट्रीय महासचिव बुद्धमित्र मुसाफिर ने बाबा साहब के गोलमेज सम्मेलनों, संविधान निर्माण एवं काशी में उनके अंतिम भाषण के बारे बताया। 

मुसाफिर ने कहा कि बाबा साहब ने संघर्ष कर दलितों को भी संविधान में अधिकार दिलाया। यही वजह है कि हमें समान नागरिकता, मंत्रिमंडल से लेकर रोजगार तक में आरक्षण मिला। हमें उनके विचारों, सिद्धांतों पर चलकर आगे बढ़ना चाहिए। अरुण कुमार प्रेमी, बृजेश कुमार भारतीय, नीलम निगम, शुभावती प्रबुद्ध आदि ने भी विचार रखे। इस दौरान बच्चों ने भाषण, गीत आदि सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया। इस मौके पर सुरेन्द्र, राजमन, दुर्गावती, सुनीता जायसवाल, अमरबहादुर, आरके बौद्ध, एके प्रेमी, छविनाथ, अनिल निगम, नीरज राय, विजय कुमार भारती, वीरेन्द्र कुमार आदि रहे। संचालन ओंकारनाथ शास्त्री तथा धन्यवाद ज्ञापन विजय कुमार राव ने किया।  

महानगर कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष मणिन्द्र मिश्र के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भी अम्बेडकर पार्क में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर अरविंद कुमार मिश्रा, हाजी मो. इस्लाम, नागेन्द्र पाठक, नेहरु पाण्डेय, शिवनारायण पाण्डेय, विशाल मिश्रा, धीरेन्द्र ओझा, गंगा सहाय पाण्डेय आदि रहे। भारतीय विद्यार्थी मोर्चा की ओर से काशी विद्यापीठ के डॉ. अम्बेडकर छात्रावास में बाबा साहब का परिनिर्वाण दिवस मनाया गया। संगोष्ठी में नसिरुल्लाह, डॉ. केशव प्रसाद, वेदांत प्रजापति, रंजन प्रसाद, राजीव, प्रदीप, कुलदीप आदि रहे। एजुकेशनल सोसाइटी ऑफ बुद्धा की ओर से भगवानपुर स्थित बुद्ध भवन में ‘राष्ट्र के उत्थान में डॉ. अम्बेडकर की भूमिका’ विषय पर गोष्ठी हुई। अनिल कुमार, अरुण कुमार, अरविंद भारती, सुजीत त्यागी आदि ने विचार रखे। 

साथ चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से भी संत गाडगे पब्लिक स्कूल में संगोष्ठी का आयोजन हुआ। ‘वर्तमान व्यवस्था और डॉ. अम्बेडकर के विचार’ विषय पर हाईकोर्ट के अधिवक्ता रमेश कुमार, संतोष कुमार, प्रेम प्रकाश, सुरेन्द्र सिंह, गिरसंत कुमार, लक्ष्मण प्रसाद मौर्य आदि ने विचार रखे। स्मार्ट इंडिया जन कल्याण समिति के सदस्यों ने अवलेशपुर कंदवा में बाबा साहब की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। उन्होंने उनके जन्म से लेकर परिनिर्वाण को याद किया। इस मौके पर मुन्नालाल, निर्मल कुमार, दीनानाथ, कमलेश पाल, रामधर, बद्री प्रसाद, शंकर प्रसाद, धर्मराज आदि रहे।  जनकल्याण परिषद ने लहुराबीर स्थित गंगा सभागार में बाबा साहब का परिनिर्वाण दिवस मनाया। डॉ. अम्बेडकर शिक्षा समिति ने सारनाथ में समाज को प्राप्त संवैधानिक अधिकारों की रक्षा क्यों’ विषयक गोष्ठी का आयोजन किया। डॉ. हरिश्चंद्र, धर्मराज, सेवक, गिरिजाशंकर, महेन्द्र कुमार आदि ने विचार रखे। 

बसपा ने भी मनाया 
बहुजन समाज पार्टी की ओर से रमरेपुर स्थित जानकी वाटिका में बाबा साहब का परिनिर्वाण दिवस मनाया गया। कार्यकर्ताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण किया।  गोष्ठी में पार्टी के पूर्व विधायक छब्बू पटेल, जोन इंचार्ज अशोक कुमार गौतम,  कैलाशनाथ सिंह यादव, वीरेन्द्र सिंह चौहान, रमशशंकर राजभर, अवनीश कुमार, विकास कुमार गौतम, ज्ञानसागर अम्बेडकर, सुधा चौरसिया, नरेशमणि, उर्मिला राज, सुजीत कुमार मौर्य, अजय विश्वकर्मा, नासिर जमाल, मेराज फारुकी, सुरेश कुमार राव आदि ने विचार रखे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Resolve to follow Baba Sahebs ideas and principles
पूरे दम-खम के साथ सहकारिता चुनाव में उतरेगी भाजपाअवैध प्लाटिंग में नौ अफसरों पर कार्रवाई की तलवार