Preparations of Baba Viswanath s Darshan-Poojan on Maha Shivaratri - महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ के दर्शन-पूजन की तैयारियां पूरी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ के दर्शन-पूजन की तैयारियां पूरी

महाशिवरात्रि पर काशी पुराधिपति बाबा विश्वनाथ के दर्शन-पूजन की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। मंदिर की विभिन्न सुगंधित फूलों और मौसमी वनस्पतियों से सजावट की जा रही है। सोमवार भोर में मंगला आरती के बाद विश्वनाथ मंदिर के पट आम भक्तों, श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खुल जाएंगे। परंपरा के अनुसार चारो प्रहर की आरती होगी। सोमवार को मंदिर में रात्रिपर्यंत दर्शन पूजन चलेगा। वहीं, शहर के अन्य प्रमुख शिवालयों में भी महाशिवरात्रि की तैयारियां जोरों पर हैं। इन सभी शिवालयों पर सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए जा रहे हैं तो दर्शन-पूजन के दौरान श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न हो, प्रशासन इसे लेकर भी सजग है। विश्वनाथ मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं को ज्ञानवापी द्वार से प्रवेश मिलेगा जबकि निकासी सरस्वती फाटक से होगी।

सोमवार को महापर्व होने से इस बार विश्वनाथ मंदिर में पूर्व के वर्षों की अपेक्षा अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान है। इसे देखते हुए मंदिर प्रशासन अतिरिक्त सतर्कता और सजगता बरत रहा है। मंदिर न्यास परिषद के अध्यक्ष पं. अशोक द्विवेदी के अनुसार, परंपरा के अनुसार ही बाबा विश्वनाथ का महाशिवरात्रि पर दर्शन-पूजन होगा।

वहीं, इस वर्ष विश्वनाथ कॉरिडोर के चलते मकानों के ध्वस्तीकरण के बाद जगह निकलने से श्रद्धालुओं को दर्शन में सुविधा मिलने का अनुमान है।

कई स्थानों पर अमानती गृह

दूर-दराज से पहुंचे शिव भक्तों के सामानों की सुरक्षा के लिए लक्सा, गोदौलिया स्टैंड व चौक पर अस्थायी अमानती गृह बनाए जाएंगे। यहां सामान रखने की नि:शुल्क व्यवस्था होगी। मंदिर में कैमरा, मोबाइल, पेन, लाइटर, बीड़ी, सिगरेट, सलाई, बैग, टार्च, छाता आदि सामान ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा।

सुरक्षाकर्मियों को सद्व्यवहार का निर्देश

एसपी ज्ञानवापी ने सुरक्षाबलों को दर्शन पूजन के दौरान श्रद्धालुओं से सद्व्यवहार करने का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने श्रद्धालुओं से अपील की है कि संदिग्ध व्यक्ति या कोई समान दिखे तो तत्काल कंट्रोल रूम व पुलिस को सूचित करें। मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने मंदिर परिसर में अर्चक, सेवादार व अन्य कर्मचारियों अपनी-अपनी पोशाक में रहने का निर्देश दिया है।

डाक्टर व एम्बुलेंस की व्यवस्था होगी

महाशिवरात्रि पर मंदिर परिसर में डाक्टरों की भी टीम मौजूद रहेगी। इमरजेंसी में एम्बुलेंस की व्यवस्था की गयी है।

नीलकंठ द्वार से मिलेगा दिव्यांगों को प्रवेश

दिव्यांगों व वीआईपी दर्शनार्थियों को विश्वनाथ मंदिर में गेट नंबर तीन नीलकंठ द्वार से प्रवेश दिया जाएगा। सख्त निर्देश है कि दिव्यांग, बीमार व बुजुर्ग को तत्काल व्हीलचेयर उपलब्ध कराई जाए। इन्हें बिना लाइन में लगे ही दर्शन कराया जाएगा।

अफसरों ने किया निरीक्षण

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह व मंदिर मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह ने शनिवार को मंदिर परिक्षेत्र में व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। सुरक्षाकर्मियों को सजग रहने के साथ श्रद्धालुओं के साथ सद्व्यवहार की हिदायत दी।

शिवार्चन के कलाकार तय नहीं

महाशिवरात्रि पर इस वर्ष विश्वनाथ मंदिर में शिवार्चन (संगीत संध्या) होगी। यह कार्यक्रम सोमवार शाम छह बजे से शुरू होगा परंतु इस कार्यक्रम के लिए शनिवार तक कलाकारों के नाम तय नहीं हो सके थे। न्यास अध्यक्ष पं. अशोक द्विवेदी ने बताया कि रविवार को नाम सार्वजनिक हो जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparations of Baba Viswanath s Darshan-Poojan on Maha Shivaratri