DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिसकर्मियों पर मंडरा रहा मुख कैंसर का खतरा

पुलिसकर्मियों पर मंडरा रहा मुख कैंसर का खतरा

शहर और आसपास सुरक्षा व्यवस्था संभाल रहे लगभग 50 फीसदी पुलिस कर्मियों में मुंह के कैंसर के शुरुआती लक्षण मिले हैं। यदि उन्होंने तंबाकू या उससे बने उत्पादों का सेवन तत्काल बंद नहीं किया तो चंद दिनों में वे कैंसर की गिरफ्त में होंगे। यह संकेत बुधवार, तंबाकू निषेध दिवस पर पुलिस लाइन में लगे स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में सामने आया है। शिविर में भाभा कैंसर हॉस्पिटल के डॉ. नवीन कुमार ने जांच के बाद पुलिस के जवानों को आगाह किया। जांच कराने पहुंचे 90 प्रतिशत जवानों ने तंबाकू सेवन की बात स्वीकार की। 

बाहर आते ही खाने लगे गुटखा 
काउंसलर ने जवानों को तंबाकू छोड़ने के उपाय बताये। उन्होंने दवा सेवन के साथ खुद की इच्छा शक्ति को मजबूत बनाने पर जोर दिया। कुछ पुलिसवालों पर इसका प्रभाव नहीं पड़ा। वे शिविर से बाहर निकलते ही पान मसाला का पैकेट फाड़ते नजर आये। 

मोटापा और मधुमेह भी हावी 
शिविर में  20 फीसदी मधुमेह और 30 फीसदी मोटापा के शिकार जवान भी मिले। मधुमेह रोगियों को ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने के साथ ज्यादा से ज्यादा टहलने की सलाह दी गई। डॉक्टर ने उन्हें नियंत्रित भोजन पर विशेष ध्यान देने को कहा। मोटापा के शिकार पुलिसकर्मियों को एक स्थान पर घंटों बैठे रहने की जगह बीच-बीच में टहलने-घूमने की सलाह मिली।

डर के मारे नहीं आये शिविर में 
ज्यादा से ज्यादा पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को लाभ पहुंचाने के लिए आरआई ने एक दिन पहले शिविर की सूचना दी थी। लेकिन शिविर में महज 30 पुलिसकर्मी ही पहुंचे। चर्चा थी कि अधिकारियों के जुर्माना लगा देने के डर से ज्यादातर पुलिसकर्मी नहीं आये। कुछ ब्लड टेस्ट के नाम पर सीरिंज देखकर भाग गये। शिविर में राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल डॉ. पीपी गुप्ता, जिला सलाहकार डॉ. सौरभ ने सहयोग किया। 

थानों को नोटोबैको जोन घोषित किया 
स्वास्थ्य परीक्षण शिविर से पहले पुलिस लाइन में आयोजित कार्यशाला में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने सभी थानों, चौकियों और पुलिस लाइन को तंबाकू मुक्त परिसर घोषित किया। पुलिस महानिरीक्षक दीपक रतन ने इस घोषणा की सराहना की। उन्होंने सभी पुलिसवालों को सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया। थानों में चालान बुक रखने के साथ ही वहां तंबाकू मुक्त परिसर का बोर्ड लगाने को कहा। इस अवसर पर कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने भी पुलिसकर्मियों से तंबाकू सेवन तत्काल बंद करने को कहा। सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। शाम को अस्सी घाट पर जागरूकता कार्यक्रम भी हुआ। 

शिविर की जांच रिपोर्ट 
कुल 30 पुलिसकर्मियों ने कराई जांच
इनमें 15 में मिले मुंह कैंसर के प्रारंभिक लक्षण 
12 पुलिसकर्मियों ने तंबाकू छोड़ने की जताई इच्छा
9 में मधुमेह की पुष्टि, 15 मिले मोटापे के शिकार 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Policemen threaten to mouth cancer