DA Image
15 जनवरी, 2021|5:25|IST

अगली स्टोरी

स्थानीय लोगों का नहीं बनेगा पास, लेना होगा फास्टैग

default image

वाराणसी। वरिष्ठ संवाददाता

डाफी टोल प्लाजा के समीप रहने वाले लोगों को अब पास जारी नहीं किया जाएगा। उन्हें फास्टैग लेना अनिवार्य है। टोल से अनलिमिटेड आने जाने पर लोगों को इस वर्ष दस रुपये अतिरिक्त शुल्क देना होगा। पहले पास के लिए उन्हें 265 रुपये खर्च करने पड़ते थे। अब उन्हें 275 रुपये देने पड़ेंगे। यह राशि फास्टैग से हर महीने अपने आप कट जाएगी। दिसंबर के अंतिम सप्ताह से पास बनाने की प्रक्रिया बंद कर दी गई है। जिनके पास दिसंबर में जारी भी किये गए होंगे, वह अमान्य हो जाएंगे।

कट जाएंगे हर महीने 275 रुपये

फास्टैग वाले पास से हर महीने अपने आप 275 रुपये कट जाएंगे। आप चाहे टोल से आना-जाना करे या न करें। यह व्यवस्था पास पर भी थी। दूसरे टोल पर आपको वहां का निर्धारित टोल फीस देना होगा।

दस किमी रेंज में रहने वालों का बनता था पास

टोल प्लाजा से दस किलो मीटर की रेंज में रहने वाले लोगों को हर महीने हजारों पास जारी किया जाता था। कार और ट्रक मालिक, दोनों को यह सुविधा दी गई थी।

फार्म भरते समय देना होगा लोकल पिनकोड

स्थानीय लोगों को फास्टैग फार्म भरते समय लोकल पिनकोड देना होगा। ताकि वाहन जैसे ही टोल पर पहुंचे तो यह पता चल जाए की यह लोकल वाहन है। सेंसर स्कैन नहीं करने पर चालक को अपना आधार कार्ड दिखाना होगा।

पास की व्यवस्था बंद कर दी गई। स्थानीय लोगों को भी फास्टैग लगवाने होंगे। हर साल पास टोल बढ़ाया जाता है।

नागेश सिंह, प्रोजेक्ट मैनेजर, एनएचएआई

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Local people will not pass Fastag will have to be taken