DA Image
28 नवंबर, 2020|2:21|IST

अगली स्टोरी

संस्कृत विश्वविद्यालय में पिछले डेढ़ महीने के फैसलों की समीक्षा होगी

सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय

सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में पिछले डेढ़ महीने में बतौर कुलसचिव लिए गए निर्णयों की समीक्षा होगी। इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। विश्वविद्यालय के कामकाज को लेकर शासनस्तर से जांच शुरू होने की संभावना है। 

गुरुवार को दोबारा कुलसचिव पद का कार्यभार ग्रहण करने के बाद प्रभाष द्विवेदी ने कहा कि जब उन्हें कार्यमुक्त किया गया था, तब उन्होंने तीन सौ फाइलें रोक रखीं थी। इस बीच उन फाइलों का निस्तारण कर दिया गया है। अब वह परीक्षण करेंगे कि इन फाइलों के निस्तारण में शासनादेशों का कितना पालन किया गया है। इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। 

सूत्रों का कहना है कि विश्वविद्यालय के कामकाज के बारे में मिली शिकायतों को शासन ने स्वत: संज्ञान में लिया है। ऐसे मामलों की जांच विश्वविद्यालय अधिनियम की धारा  आठ के तहत कराई जा सकती है। विभिन्न स्रोतों से शिकायतें शासन को भेजी गई हैं। 

उल्लेखनीय है कि कुलसचिव प्रभाष द्विवेदी ने कुलपति के कई निर्णयों पर आपत्ति जताते हुए उनकी लिखित शिकायत शासन में की थी। उसके बाद कुलपति और उनके बीच तनाव बढ़ गया था। खास तौर से विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति का मुद्दा चर्चा में रहा। इसके बाद प्रभाष द्विवेदी से कुलसचिव का अधिकार छीन कर उन्हें उपकुलसचिव बना दिया गया था। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: last one and a half month judgment of Sanskrit University will be reviewed