DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना एसी चलाए ही रवाना कर दी काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस, कई बार चेनपुलिंग

भीषण गर्मी में रेल अधिकारियों की लापरवाही का दंश आम यात्री झेल रहा है। काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस के एक कोच का एसी ठीक कराये बिना ही रविवार को वाराणसी के कैंट स्टेशन से ट्रेन रवाना कर दी गई। नाराज यात्रियों ने आउटर पर तीन बार चेनपुलिंग की। इसके बावजूद एसी नहीं ठीक की गई और उसी तरह ट्रेन रवाना कर दी गई। 

ट्रेन स्टेशन से तय समय 1.50 बजे रवाना की गई लेकिन इसके बी-3 कोच का एसी नहीं चल रहा था। जबकि यात्रियों ने इसकी शिकायत पहले ही की थी। ट्रेन जब चल दी तो आउटर पर यात्रियों ने हंगामा कर दिया और तीन बार चेनपुलिंग की लेकिन स्थानीय रेल प्रशासन पर कोई असर नहीं हुआ। इसके अलावा दिल्ली जा रही श्रमजीवी और पटना-सिकंदराबाद एक्सप्रेस के एक-एक कोच में एसी फेल रहा। यात्रियों ने ट्वीट कर शिकायत की लेकिन यहां से बिना एसी ठीक किये ट्रेन रवाना कर दी गई।

फूड स्टाल संचालक को चेतावनी 
वाराणसी। कैंट स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर नौ पर संचालित नीलम फूड स्टाल को मुख्य खान-पान निरीक्षक ने चेतावनी दी। शनिवार को स्टाल से बाहर भोजन बेचने पर उससे जवाब तलब किया है। 

बाबतपुर में सिग्नल फेल, कई ट्रेनें प्रभावित 
वाराणसी। बाबतपुर स्टेशन पर नान इंटरलॉकिंग कार्य के बाद रविवार दोपहर सिग्नल फेल होने के बाद डाउनलाइन की ट्रेनें प्रभावित रहीं। दोपहर 11.16 से 12.10 बजे तक सिग्नल फेल होने पर मरुधर एक्सप्रेस और सुल्तानपुर पैसेंजर मैनुअल मेमो लेकर बढ़ाई गईं। इससे ये ट्रेनें घंटे भर लेट रहीं।

दो घंटे आउटर पर रही ताप्ती गंगा, लोकेशन दिखाया रवाना
वाराणसी। छपरा से सूरत जा रही ताप्ती गंगा एक्सप्रेस को रविवार को दो घंटे आउटर पर रखा गया। यह ट्रेन शाम 5.30 बजे आउटर पर रोक दी गई। खास यह कि रेलवे के सिस्टम पर इसे 5.36 बजे रवाना दिखा दिया गया। जबकि ट्रेन 7.15 बजे यहां से रवाना की गई।

घंटे भर खड़ी रही दुर्ग-नौतनवा एक्सप्रेस
वाराणसी। तकनीकी खराबी के कारण रविवार शाम दुर्ग-नौतनवा एक्सप्रेस घंटे भर स्टेशन पर खड़ी रही। इसके गार्ड कोच में लाइट नहीं थी। इंजन में भी खराबी आ गई। ट्रेन 6.25 बजे आई और 7.30 बजे रवाना हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kashi Vishwanath Express without exception repeatedly chanpuling