वाराणसी से शिफ्ट होगी काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस, वंदेभारत के लिए भी लिखा पत्र

Last Modified: Sun, Dec 08 2019. 21:15 IST
offline

वाराणसी जंक्शन से चलने वाली काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस को जल्द ही यहां से शिफ्ट करके मंडुवाडीह स्टेशन से चलाया जाएगा। वाराणसी जंक्शन पर ट्रेनों का बोझ कम करने के लिए पांच जोड़ी ट्रेनों को यहां से शिफ्ट करने का फैसला लिया जा चुका है। इसके साथ ही सेमीहाईस्पीड ट्रेन वंदेभारत एक्सप्रेस को भी वाराणसी जंक्शन से शिफ्ट करके मंडुवाडीह स्टेशन से चलाने के लिए पत्र लिखा गया है। 

वाराणसी में ही स्थित मंडुवाडीह स्टेशन को लोहता स्टेशन से जोड़ने वाली बाइपास लाइन के सीआरएस निरीक्षण के बाद इस सप्ताह से इससे ट्रेनें चलने लगेंगी। पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल के अधिकारियों ने बताया कि इस सप्ताह अनुमति मिलने के बाद कैंट स्टेशन से ट्रेनों को शिफ्ट कर चलाया जायेगा। 

पहले चरण में पांच जोड़ी ट्रेनें मंडुवाडीह स्टेशन से चलाई जाएंगी। इसमें बुंदेलखंड एक्सप्रेस की दोनों ट्रेनें, काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस, रत्नागिरि एक्सप्रेस, वाराणसी-उधना एक्सप्रेस शामिल है। वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक रोहित गुप्ता ने बताया कि अगले तीन से चार दिन में सीआरएस निरीक्षण की रिपोर्ट के बाद बाइपास लाइन से ट्रेनें चलाने की अनुमति मिल जाने की संभावना है। तब तक ट्रेनों के शिफ्टिंग की कवायद चल रही है। अनुमति मिलते ही ट्रेनें शिफ्ट हो जाएंगी।

वंदेभारत की शिफ्टिंग के लिए भी पत्र
देश की पहली सेमीहाईस्पीड ट्रेन वंदेभारत एक्सप्रेस को भी मंडुवाडीह स्टेशन पर शिफ्ट करने के लिए वाराणसी मंडल की ओर से पत्र लिखा गया है। मंडल से पत्र पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय गोरखपुर गया है। गोरखपुर से रेलवे बोर्ड के अधिकारियों से बातचीत चल रही है। मंडल के अधिकारियों ने यात्रियों को सुविधाजनक स्टेशन का हवाला देते हुए इसे शिफ्ट करने की बात कही है। वंदेभारत एक्सप्रेस के यहां आने के बाद सिंगरौली इंटरसिटी को भी पूर्वोत्तर रेलवे मंडुवाडीह से चलायेगा।

हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें