DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काशीः पहले सोमवार पर जलाभिषेक के लिए एक दिन पहले ही लग गई कांवरियों की कतार

सावन के पहले सोमवार पर काशी विश्वनाथ मंदिर में जलाभिषेक के लिए कांवरियों की लाइन रविवार दोपहर से ही लग गई है। शिविरों में भी बड़ी संख्या मैें कांवरिये पहुंच गए हैं। सोमवार की भोर में मंगला आरती के बाद बाबा का जलाभिषेक अौर दर्शन शुरू हो जाएगा। इस बार जलाभिषेक के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। गर्भ गृह में किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा। 

औढरदानी शंकर स्वरूप बाबा विश्वनाथ के द्वार पर श्रद्धालु भक्तों का जयकार तेज हो चला है। सावन के पहले सोमवार को ज्योतिर्लिंग के जलाभिषेक की उत्सुकता तो है ही, पुण्यदायी मास के पहले रविवार को भी गंगा स्नान एवं श्री विश्वनाथ के जलाभिषेक के लिए हजारों कांवरियों ने काशी में डेरा डाल दिया है। उनके भजन-कीर्तन एवं बोल-बम का उद्घोष से प्रकट होती उत्साह की तरंगें वातावरण को झुमा रहीं हैं। उनके आवागमन के अटूट क्रम से गोदौलिया-दशाश्वमेध क्षेत्र में दिन और रात का फर्क मिट चला है। 
वहीं, सोमवार से पहले प्रशासनिक अमला भी अलर्ट मोड पर आ गया है। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन संबंधी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है। जिला प्रशासन, मंदिर प्रबंधन से लेकर सुरक्षा तंत्र तक व्यवस्था संबंधी छोटी-मोटी खामियों को भी दूर करने के लिए शनिवार को संजीदा दिखा। 

ज्ञानवापी और बांसफाटक से प्रवेश
विश्वनाथ मंदिर परिसर में साज सज्जा शुरू हो गई है। परिसर में स्टील रॉड से बैरिकेडिंग की जा रही है। कोतवालपुरा से ढुंढिराज विनायक के मध्य के रास्ते को दुरुस्त कर दिया गया है। सावन के सोमवार पर भक्तों के मंदिर में प्रवेश के लिए दो मार्ग निर्धारित किए गए हैं। चौक की ओर से आने वाले भक्तों को गेट नंबर चार (ज्ञानवापी) और गोदौलिया की ओर से जाने वाले भक्तों को बांसफाटक-कोतवालपुरा मार्ग से प्रवेश दिया जाएगा। इनकी निकासी क्रमश: नीलकंठ और सरस्वती फाटक द्वार से होगी।

बुजुर्गों-दिव्यांगों के लिए ई-रिक्शा
एसपी सुरक्षा ज्ञानवापी शैलेंद्र कुमार राय के अनुसार सुगम दर्शन योजना के अंतर्गत आने वाले भक्तों को सत्यनारायण मंदिर के सामने गेट संख्या पांच से प्रवेश दिया जाएगा। दिव्यांगों और बुजुर्गों को प्रवेश स्थलों तक लाने के लिए गोदौलिया व मैदागिन से ई-रिक्शा की नि:शुल्क व्यवस्था की गई है। उन्हें बिना कतार में खड़ा किए विश्वनाथ मंदिर में सीधे प्रवेश दिया जाएगा।

लॉकर की नि:शुल्क व्यवस्था
जिला प्रशासन ने बांसफाटक और ज्ञानवापी के पास नि:शुल्क लॉकर की व्यवस्था की है ताकि गलती से कोई भक्त अपने बैग आदि सामान के साथ कतार में खड़ा हो गया हो तो अंतिम समय में उसे कतार से बाहर न होना पड़े। 

बढ़ाया गया उद्घोषणा का दायरा
सुरक्षा संबंधी नियमों से लेकर प्रवेश-निकास और खोया-पाया संबंधी सूचनाओं के प्रसारण का दायरा ज्ञानवापी से बढ़ा दिया गया है। अब उद्घोषणा उत्तर में  नीचीबाग और दक्षिण-पश्चिम में गिरजाघर चौराहे तक सुनी जा सकती है।

पानी के स्टाल व डॉक्टरों की टीम 
मैदागिन और गिरजाघर के बीच हर सौ से डेढ़ सौ मीटर पर पेयजल और यथासंभव छाजन की व्यवस्था भी की जा रही है। पानी के साथ ही डाक्टरों की दो मोबाइल टीमें भी मौजूद रहेंगी।  सुरक्षा में लगे जवानों को हिदायत की जा रही है कि किसी भी दशा में भक्तों के साथ अभद्र आचरण न करें। शिकायत मिलने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

ई-रिक्शा से ज्ञानवापी पहुंचे कमिश्नर
भीड़ को देखते हुए शनिवार दोपहर से ही मैदागिन और गोदौलिया की ओर से वाहनों का प्रवेश रोक दिया गया था। शनिवार को प्रियंका गांधी के आने से पहले तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने अपनी गाड़ी मैदागिन पर ही छोड़ दी। ज्ञानवापी तक उन्होंने ई-रिक्शा की सवारी की। 

घाट से स्टेशन तक बोल बम
शहर में कांवरियों की आमद बढ़ गई है। शनिवार को कैंट रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन से लेकर गंगा घाट तक बोलबम की गूंज सुनाई पड़ती रही। दशाश्वमेध घाट सुबह से रात तक कांवरियों की भीड़ से पटा रहा। गंगा स्नान और बाबा को चढ़ाने के लिए जल लेने का सिलसिला पूरे दिन चला। मध्यप्रदेश इलाहाबाद से आए राजकुमार केसरवानी के परिजनों ने मनौती पूरी होने पर मां गंगा को चुनरी चढ़ाई। वहीं बाबा को जल चढ़ा कर पहले सोमवार पर बाबा बैद्यनाथ धाम पहुंचने की तमन्ना रखने वाले हजारों शिव भक्तों से कैंट रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म भरे रहे।

50 हजार यादव बंधु करेंगे बाबा का जलाभिषेक
सावन के पहले सोमवार को परंपरानुसार देशभर के यादव बंधु बाबा का जलाभिषेक करेंगे। चंद्रवंशी गोप सेवा समिति के बैनर तले गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, सांसद योगी बाबा बालकनाथ, पूर्व एमएलसी एवं भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष शिवनाथ यादव, हरियाणा के विधायक ओमप्रकाश यादव  50 हजार से अधिक यादव बंधु जलाभिषेक में शामिल होंगे। जलाभिषेक यात्रा केदारघाट से निकाली जाएगी। वहीं गोवर्धन पूजा समिति और भारतीय यादव महासभा की ओर से 21 जुलाई को यादव बंधुओं का सम्मान होगा। 

चंद्रवंशी गोप सेवा समिति के लालजी यादव एवं गोवर्धन पूजा समिति के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने गुरुवार को पराड़कर भवन पत्रकारवार्ता में यह जानकारी दी। लालजी यादव ने बताया कि सोमवार को सुबह यादव बंधु केदारघाट पर एकत्रित होंगे। गंगा स्नान करने के बाद गंगाजल लेकर केदारेश्वर महादेव, तिलभाण्डेश्वर, बड़ी शीतला माता, अहिलेश्वर महादेव में जलाभिषेक करने के बाद बाबा का जलाभिषेक करेंगे। इस दौरान मार्ग में और यादव बंधु शामिल होंगे। विनोद कुमार यादव ने बताया कि केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय सहित विभिन्न शहरों से आने वाले यादव बंधुओं का 21 जुलाई को शाम चार बजे खिड़कियाघाट पर सम्मान होगा।  
प्रशासन की व्यवस्था से नाराज
विश्वनाथ मंदिर के अंदर की व्यवस्था और परंपरागत मार्ग में ठीक न कराने पर यादव बंधुओं ने नाराजगी जताई है। लालजी यादव ने बताया कि प्रशासन शीघ्र व्यवस्था को दुरुस्त नहीं करती है तो विरोध किया जाएगा। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kashi: On the first Monday the line of the Kanwaris took place just one day before Jalabhishek